-अगस्त के अंत तक होते हैं छात्रसंघ चुनाव
जयपुर।
राजस्थान विश्वविद्यालय समेत प्रदेश के सभी सरकारी विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों और उनके संघटक कॉलेजों में अगस्त के अंत तक चुनाव होने की संभावना है। किंतु उससे पहले, करीब दो माह पहले ही विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में छात्रों ने चुनावी जीत-हार की गणित शुरू कर दी है।

राजस्थान विश्वविद्यालय, महाराजा कॉलेज, कॉमर्स कॉलेज, महारानी कॉलेज और राजस्थान महाविद्यालय में चुनाव लड़ने के इच्छुक छात्रनेताओं ने छात्रों के मुद्दे उठाने शुरू कर दिये हैं। अधिकांश जगह पर हैल्प डेस्क और छात्रों की टीम गठित कर नये छात्रों से संपर्क भी तेज कर दिया है।

कर्मचारियों के आंदोलन में भी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने पूरा सहयोग किया है। सोमवार को विवि में सिंडीकेट बैठक के बाद विधायक अमीन कागजी के आश्वासन के बाद भले ही संविदाकर्मियों ने हड़ताल खत्म कर दिया हो, किंतु इस प्रकरण में भी छात्रों ने पूरा सहयोग किया है।

हर दिन विवि और कॉलेजों में छात्रनेता छात्रों की समस्याओं को लेकर धरने, प्रदर्शन और अनशन कर रहे हैं। इस मामले में एबीवीपी ने एनएययूआई को मात दे रखी है। करीब दो माह अभी भी छात्रसंघ चुनाव में है, किंतु छात्रों का जोश देखते ही बन रहा है।