-मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री समेत तमाम मंत्रियों ने योग दिवस पर नहीं लिया कार्याक्रमों में हिस्सा

जयपुर। आज एक ओर जहां पूरा विश्व योग दिवस मना रहा है, वहीं राजस्थान में कांग्रेस की सरकार के तमाम मंत्रियों, मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री समेत पार्टी ने एक तरह से इस कार्यक्रम को ही बहिष्कार कर दिया।

प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के साथ ही सभी मंत्रियों ने योग दिवस के अवसर पर किसी भी सरकारी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया।

खास बात यह है कि एक तरफ जहां दुनिया के 190 से ज्यादा देशों ने योग दिवस को बड़े शान से मनाया, वहीं राजस्थान की सरकार ने ही इसका बहिष्कार कर दिया।

जबकि शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, जिन्होंने योग दिवस को शुरुआत में मनाने से इनकार करने कर दिया था, किंतु बाद में विपक्ष के दबाव में मनाने पर राजी हुए थे, उन्होंने भी किसी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया। हालांकि डाटासरा खुद जयपुर में ही मौजूद रहे।

शिक्षा विभाग ने एक सर्कुलर जारी करते हुए पिछले दिनों कहा था कि स्कूलों में अवकाश चल रहे हैं, इसलिए जो बच्चे अपने नाना-नानी के या अन्य किसी रिश्तेदारी में गए हुए हैं, वह पास ही की सरकारी या निजी स्कूल में जाकर योग दिवसर पर भाग ले सकते हैं। जबकि खुद शिक्षा विभाग ने योग दिवस पर कोई कार्यक्रम नहीं किया है।

प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने अजमेर में आयोजित योग दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

उन्होंने कहा कि योग से व्यक्ति निरोग होता है, इसलिए इसको सभी को अपनाना चाहिए। हालांकि इसी कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए पूर्व शिक्षामंत्री वासुदेव देवनानी ने कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो नहीं लगाने पर सरकारी पर हमला बोला।

देवनानी ने कहा कि जिस योग को हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरी दुनिया में फैला दिया, उसमें देश के मुखिया की फोटो नहीं लगाना कांग्रेस की ओछी मानसिकता को परिचायक है।

इधर, टोंक में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अशोक परनामी ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार के अल्पमत में होने और दो धड़ों में बंटने की बात कहकर तंज कसा है।