एसओजी एडीजी अनिल पालीवाल की पत्नी हैं अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत की पार्टनर

एसओजी एडीजी अनिल पालीवाल की पत्नी हैं अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत की पार्टनर

आईएएनएस के द्वारा अशोक गहलोत सरकार में सबसे विश्वसनीय अधिकारी माना जाने वाले सीनियर आईपीएस ओफिसर अनिल पालीवाल का गहलोत के बेटे वैभव गहलोत और उनके अन्य परिवारजनों से गहरा कोरोबारी संबध उजागर किया गया है।

आईएएनएस के द्वारा जारी किये गये दस्तावेजों के अनुसार राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच अशोक गहलोत के उपर अपनी भ्रष्ट ब्यूरोक्रेसी के द्वारा विपक्ष के उपर अनैतिक दबाव बनाने के लिए एसओजी के माध्यम से प्रहार किये जा रहे हैं।

एसओजी पर आरोप है कि जायज काम करने और राज्य में कानून व्यवस्था को दुरस्त करने के बजाए विपक्षी नेताओं के उपर कार्यवाही करने में अधिक सक्रिय है। आईएएनएस के खुलासे के बाद एसओजी के तत्कालीन एडीजी अनिल पालीवाल के उपर कई संगीन आरोप विपक्ष की ओर से लगाए गए हैं।

भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय के द्वारा ट्वीटर के माध्यम से इस बात का जिक्र किया गया है कि सीएम गहलोत सरकार के लिए बेहद शर्म की बात है कि जिस एसओजी के अधिकारी द्वारा मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को नोटिस जारी किया गया है, उसकी पत्नी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत की कारोबारी हिस्सेदार हैं और दिल्ली रोड पर स्थित जिस होटल में राज्य की पूरी सरकार कैद है, उसी फेयमोंट होटल की सारिका पालीवार साझेदारी हैं। उन्होंने आगे लिखा है कि अशोक गहलोत सरकार चला रहे हैं या भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं?

बता दें कि अनिल पालीवाल के द्वारा ही संजीवनी कॉपरेटिव सोसायटी पर कथित तौर पर घोटाले का आरोप लगाते हुए गजेंद्र सिंह शेखावत को शामिल कर मुकदमा दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें :  7 लाख किसानों पर भारी पड़ी ऋणमाफी

आईएएनस को जानकारी मिली है कि अनिल पालीवाल और उनकी पत्नी सारिका पालीवाल के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उनके बेटे वैभव गहलोत और उनके परिजनों के साथ बहुत गहरे कारोबारी संबंध हैं।

आईएनएएस द्वारा जारी किये गए दस्तावेजों में दावा किया गया है कि सीनियर आईपीएस अनिल पालीवाल की पत्नी सारिका पालीवाल, रंतनकांत शर्मा और दूसरे कारोबारियों के साथ ट्राइटन होटल और रिजोर्ट्स में प्रमोटर हैं, जबकि फेयरमोंट होटल भी ट्राइटन होटल ग्रुप का ही एक हिस्सा है।

सर्वविदित है कि रतनकांत शर्मा और वैभव गहलोत दोनों पक्के कारोबारी हिस्सेदार हैं। मशहूर न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार जहां पर अशोक गहलोत की पूरी सरकार और विधायक ठहरे हुए हैं, उस होटल की साझेदार अनिल पालीवाल की पत्नी सारिका पालीवाल भी हैं और इसके साथ ही रतनकांत शर्मा भी इस होटल के हिस्सेदार हैं।

गोल्डन पीस रिजोर्ट्स और मयंक शर्मा एंटरप्रोइजेज में भी पालीवाल की पत्नी सारिका हिस्सेदार हैं। गहलोत पर आरोप लगा है कि उनके परिवार द्वारा कारोबार का ऐसा जाल बुना गया है कि जो भी मयंक शर्मा एंटरप्राइजेज का शेयर होल्डर हैं, वो ट्राइटन होटल और रिजोर्ट्स का भी हिस्सेदार है।

आईएएनएस द्वारा जारी आरओसी के दस्तावेजों के अनुसार मजेदार बात यह है कि सारिका पालीवाल, रतनकांत शर्मा और अन्य सभी प्रमोटर्स का 103 शांतिवन 2ए, राहेजा टाउनशिप, मलाड ई, मुंबई नाम से एक ही पता दिया गया है।

14 मार्च 2007 में रजिस्ट्रड दस्तावेजों के अनुसार अनिल पालीवार की पत्नी सारिका पालीवाल भी ट्राइटन होटल और रिजोर्ट्स के मालिक मयंक शर्मा और पीएन कमलेश की हिस्सेदार हैं।

ट्राइटल होटल के कुल 7500 शेयर में सारिका पालीवाल के 3500 शेयर हैं, जबकि बाद में 3500 शेयर उन्होंने रतनकांत शर्मा की पत्नी जुही शर्मा को ट्रांसफर किये थे, जो कि इस वक्त होटल में 50 प्रतिशत की शेयर होल्डर हैं।

यह भी पढ़ें :  नागौर हवाई पट्टी के सामने बहुमंजिला होटल की इमारत को किया जाए ध्वस्त - बेनीवाल

सारिका पालीवाल गोल्डन पीस रिजोर्ट्स व मयंक शर्मा एंटरप्राइजेज की निदेशक भी हैं और रतनकांत शर्मा की क्लोज कारोबारी हिस्सेदार हैं, जो कि अशोक गहलोत के बेटै वैभव गहलोत का कारोबारी हिस्सदार बताया जाता है।

इस वक्त सारिका पालीवाल मयंक एंटरप्राइजेज के 11 प्रतिशत शेयर की मा​लकिन हैं, जिसकी दिल्ली रोड पर ही कूकस में ‘ली मेरेडियन’ होटल है। ट्राइटन रिजोर्ट्स के शेयर होल्डर मयंक शर्मा एंटरप्राइजेज के खास बिजनिस पार्ट्नर हैं।