मौलाना ने कहा: “30 करोड़ मुसलमान आतंवादी बन गए तो हिंदुस्तान में खून की नदियां बहेंगी”

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले में सीएए के खिलाफ धरने में भड़काऊ भाषण देने वाले मौलाना तौकीर रज़ा के खुलाफ़ मामला दर्ज किया गया है। रज़ा के खिलाफ धारा 304, 305 और 153A के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

तौकीर रजा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की है। उन्होंने पीएम मोदी और गृहमंत्री शाह को आतंकवादी बताया है।

मौलाना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हिटलर और गृह मंत्री अमित शाह को मुसोलिनी करार दिया है। इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ बरेली बहुत ही बेहद शर्मनाक टिप्पणी की है।

इस मौलाना ने इससे पहले भी गाड़ी पर स्पीकर लगाकर पूरे शहर में भड़काऊ भाषण दिया था, जिसके बाद मौलाना पर एक्शन लिया गया है। मौलाना राजा ने पहले भी कहा था कि अगर देश के 30 करोड़ मुसलमानों ने ठान लिया, तो देश में खून की नदियां बहेगी।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ यहां पर संभल जिले में चल रहे धरने प्रदर्शन को संबोधित करते हुए मौलाना ने नरेंद्र मोदी और अमित शाह को ‘न’शा’ करार देते हुए कहा कि कुछ हिंदुओं के नशा चढ़ा हुआ है और उस नशे को हम उतार देंगे।

उल्लेखनीय है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश में कई जगह पर मुसलमानों के द्वारा प्रदर्शन किए जा रहे हैं, इधर मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। दूसरी तरफ सरकार ने कानून को वापस लेने से साफ इनकार कर दिया है।

मौलाना तौकीर रजा ने कहा कि मुसलमानों ने पहले जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटया गया और वहां पर सरकारी जुल्म को देखा। उसके बाद तीन तलाक पर चुप रहे हैं और अयोध्या में बाबरी मस्जिद की जगह राम मंदिर बनाए जाने के फैसले पर भी चुप रहे, लेकिन अब सब कुछ बर्दाश्त से बाहर हो रहा है और इसकी सजा सरकार को मिलेगी।

यह भी पढ़ें :  अलवर में 5-6 जनों ने बलात्कार किया, फिर मामी के साथ भांजे को शारिरीक सम्बन्ध बनवा वीडियो वायरल किया

मौलाना तौकीर रजा ने दावा किया कि यह सरकार नागरिकता संशोधन कानून को वापस लेगी और इसको राम मंदिर, धारा 370 और तीन तलाक पर भी पीछे हटना पड़ेगा। अन्यथा देश में खून की नदियां बहेगी।