UP : सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने शुरू किया आमरण अनशन

उप्र : सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने शुरू किया आमरण अनशन

Banda

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के अतर्रा थाना क्षेत्र में कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई एक महिला ने मंगलवार से अपने घर में ही अन्न-जल त्यागकर आमरण अनशन शुरू कर दिया है।
कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म की शिकार 45 वर्षीय पीड़ित महिला का आरोप है कि दो दिसंबर की रात करीब साढ़े 11 बजे वह अपने खलिहान में फसल की रखवाली कर रही थी, तभी शराब के नशे में चार लोग आए और कथित रूप से उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म करने के बाद बेहोशी की हालत में उसे वहीं छोड़कर भाग गए।

पीड़िता का आरोप है कि सुबह घटना की लिखित सूचना थाने में दी तो पुलिस ने उसकी तहरीर बदलकर सिर्फ मारपीट की धारा में एनसीआर दर्ज की है।

बकौल पीड़िता, उसने कुछ दिन पूर्व पुलिस अधीक्षक से भेंटकर अपनी फरियाद सुनाई थी, जिसमें उन्होंने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया था, लेकिन अतर्रा पुलिस ने मुकदमा नहीं दर्ज किया और रुपये लेकर समझौते का दबाव बना रही है।

पीड़ित महिला ने अपने घर में टांगे बैनर पर लिखा है कि उसने आज (मंगलवार) से अन्न-जल त्याग दिया है, उसकी मौत के जिम्मेदार पुलिस अधीक्षक बांदा और थानाध्यक्ष अतर्रा होंगे।

इस मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) रामेंद्र तिवारी का कहना है कि यह घटना उनकी तैनाती से पूर्व की है। पीड़िता की तहरीर के मुताबिक तब मारपीट की धारा में एनसीआर दर्ज कर शांति भंग के आरोप में सीआरपीसी की धारा-151 के तहत उपजिला मजिस्ट्रेट अतर्रा के न्यायालय में आरोपियों का चालान किया जा चुका था। महिला अब सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगा रही है, जिसकी भी जांच चल रही है।

यह भी पढ़ें :  तीन पत्नियों सुमन, मंजू और बंटी के बीच फंस गया एक पति हरिओम