अपराध शाखा की टीमें JNU पहुंचीं, मिले कई सुराग

अपराध शाखा की टीमें जेएनयू पहुंचीं, मिले कई सुराग

[ad_1]

1578303163 952 जेएनयू हिंसा पुलिस को कैंपस में घुसने नहीं दिया1578303163 279 जेएनयू हिंसा पुलिस को कैंपस में घुसने नहीं दियाहिंसा के खिलाफ गेटवे ऑफ इंडिया पर सैकड़ों छात्रों1578306498 261 अपराध शाखा की टीमें जेएनयू पहुंचीं मिले कई सुरागनई दिल्ली, 6 जनवरी (आईएएनएस)। जवाहर लाल नेहरू विवि (जेएनयू) परिसर में रविवार को हुई हिंसा की जांच के सिलसिले में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के विशेष आयुक्त सतीश गोलचा और डीसीपी ज्वॉय टिर्की ने अब से कुछ देर पहले घटनास्थल का मुआयना किया। मामले की जांच में जुटी सभी जांच टीमें डीसीपी ज्वॉय टिर्की को रिपोर्ट करेंगी।
जांच में जो अंतिम निष्कर्ष निकल कर सामने आएगा, उसे केंद्रीय गृह मंत्रालय और दिल्ली के उपराज्यपाल के हवाले किया जाएगा। जांच की निगरानी अपराध शाखा के विशेष आयुक्त सतीश गोलचा को सौंपी गई है।

सतीश गोलचा ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, मेरे साथ डीसीपी ज्वॉय टिर्की सहित टीम के अन्य सदस्य भी थे। पूरी टीम का मौके पर एक साथ जाना जरूरी था, ताकि जांच के वक्त सब आपस में एक-दूसरे के साथ बेहतर सामंजस्य बनाकर सही तथ्य सामने ला सकें।

विशेष आयुक्त (अपराध शाखा) गोलचा ने आगे बताया, मौके पर पहुंची हमारी टीमों ने काफी लोगों से बातचीत भी की। सामने आ रहे तथ्यों से उम्मीद है कि जल्द ही कोई न कोई सटीक बात निकल कर सामने आ जाएगी, जिससे पता चल जाएगा कि रविवार शाम और रात के वक्त जेएनयू कैंपस में हिंसा के लिए आखिर असली जिम्मेदार कौन थे?

उन्होंने कहा, हमारी जांच की प्राथमिकता में यह पता करना भी है कि आखिर रविवार रात कैंपस में हिंसा के लिए जिम्मेदार लोग आखिर अंदर के ही थे या बाहर के? इसका पता लगते ही जांच को सही दिशा तो मिलेगी ही, साथ ही आरोपियों तक पहुंचने के लिए भी पुलिस टीमों को बेवजह इधर-उधर वक्त जाया नहीं करना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें :  राम मंदिर, तीन तलाक, नोटबन्दी, जीएसटी, सर्जिकल स्ट्राइक, मोब लिंचिंग, 2019 के चुनाव पर PM मोदी की बेबाक बातें

गोलचा ने अबतक हासिल हुई जानकारी देने से यह कहते हुए इंकार कर दिया कि बाकी तफ्तीश पूरी होने के बाद ही सही तथ्य सामने आने पर बोलना सही होगा। हां, इतना तय है कि जिस तरीके के सबूत और गवाह प्राथमिक पड़ताल में या मेरी मौके की विजिट में सामने आ रहे हैं, उसमें जांच में कुछ मुश्किलें आ सकती हैं।

उन्होंने आगे कहा, जहां तक सीसीटीवी फूटेज की बात है तो हमारी टीमें उस पर भी काम कर रही हैं। कुछ फूटेज मिले हैं, मगर इन फूटेज के बलबूते फिलहाल किसी अंतिम निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता है।

–आईएएनएस

[ad_2]