19 C
Jaipur
बुधवार, अक्टूबर 28, 2020

न्याय और अन्याय के बीच उलझा हाथरस का बुलगड़ी गांव

- Advertisement -
- Advertisement -

हाथरस, 4 अक्टूबर (आईएएनएस)। हाथरस के बुलगड़ी गांव में हुई 19 साल की लड़की से सामूहिक दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद एक अजीब सा माहौल है। यहां के लोग न्याय और अन्याय के बीच उलझ कर रह गए हैं। हर किसी की जुबान पर न्याय की बात है और हर किसी ने अपने हिसाब से तय कर लिया है कि कहां किसकी गलती रही होगी।

इस गांव में हर जाति के लोग रहते हैं। गांव वाले साथ में हर त्यौहार भी मनाते आएं हैं। अगर जाति समीकरण की बात करें तो करीब 25 हरिजन, 200 से अधिक ठाकुर और करीब इतने ही ब्राह्मण इस गांव में रहते हैं। करीब 25 कुम्हार और 4 से 5 नाई भी हैं।

- Advertisement -satish poonia

इसी गांव के निवासी योगेंद्र सिंह का मानना है कि, पहले यहां सब कुछ नॉर्मल था, हर एक व्यक्ति अपने काम से काम रखता था। इस घटना के बाद से पुलिस का पहरा बहुत ज्यादा हो गया, अचानक से इस गांव में सब कुछ बदल गया।

योगेंद्र ने आईएएनएस को बताया, गांव में अब छोटी छोटी बातें तूल पकड़ सकती हैं। इस गांव में राजनीति ज्यादा होने लगी जो कि खतरनाक है।

उन्होंने आगे जिक्र करते हुए बताया, गांव में अब जो भी पीड़िता के परिवार से मिलने आतें हैं वो दूसरे समाज पर गाली गलौच करते हैं।

देर रात अंतिम संस्कार होने की बात पर योगेंद्र का कहना है कि, परिस्थितियों के हिसाब से चीजें होती हैं। अगर दिन में अंतिम संस्कार होता तो गांव का माहौल ज्यादा खराब होता, क्योंकि गांव में बाहर के लोग ज्यादा इकट्ठा हो जाते।

इस पूरी प्रक्रिया में ऐसी बातें निकल कर आ रहीं हैं जो अब समय के साथ साथ गलत सिद्ध हो रही हैं। हालांकि इस घटना में जो भी जांच होगी वो कानून के हिसाब से होनी चाहिए।

70 वर्ष के रामदेव तिवारी इसी गांव के निवासी हैं। उन्होंने बताया, घटना घटने के बाद हमें पता लगा, जबकि घटना स्थल से मैं करीब 200 मीटर दूर था लेकिन मैंने कोई आवाज नहीं सुनी।

पड़ोस गांव के रहने वाले एक शख्स ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, इस गांव में जातिवाद नहीं है, लेकिन गांव न्याय और अन्याय के बीच उलझ कर रह गया है।

इस घटना का असर भविष्य में होने वाले चुनावों और उनके परिणामों पर जरूर पड़ेगा।

हालांकि गांव की मौजूदा स्थिति की बात करें तो मुख्य सड़क से पीड़ित परिवार का घर करीब डेढ़ किलोमीटर दूर है। लेकिन पुलिस का पहरा मुख्य सड़क से लेकर पूरे गांव के अंदर तक मौजूद है। गांव की हर एक छोटी सड़क पर हथियार बन्द सिपाही तैनात है।

— आईएएनएस

एमएसके-एसकेपी

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
न्याय और अन्याय के बीच उलझा हाथरस का बुलगड़ी गांव 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आईपीएल में लगातार दो शतक धवन की बहुत बड़ी उपलब्धि : गंभीर

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाज शिखर धवन की तारीफ करते हुए कहा है...
- Advertisement -

विकासशील देशों में प्रदूषण की समस्या बनते आयातित सेकेंड हैंड वाहन

बीजिंग, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। अफ्रीकी देश केन्या की राजधानी नैरोबी में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया कि...

चीन में 832 गरीबी काउंटियों में ई-कॉमर्स कवरेज हुई पूरी

बीजिंग, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीन में 832 गरीबी काउंटियों में ई-कॉमर्स कवरेज हासिल हो चुकी है। चीनी ग्रामीणों में ऑनलाइन बिक्री 2014 में 180...

मोहब्बतें की शूटिंग के वक्त ऐश्वर्या ने कभी नहीं की शिकायत : फराह खान

मुंबई, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। आदित्य चोपड़ा के निर्देशन में बनी फिल्म मोहब्बतें आज से ठीक 20 साल पहले रिलीज हुई थी। इस खास दिन...

Related news

RLP पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्य चुनाव अकेले लड़ेगी, फिर हुंकार भरेंगे हनुमान

जयपुर। नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में आने वाले दिनों में होने वाले पंचायती राज व जिला...

यूपी के हर जिले में होगा एंटी-ह्यूमन ट्रैफिकिंग थाना

लखनऊ, 26 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने महिलाओं और बच्चों की तस्करी के खिलाफ बड़ा कदम उठाया है। उत्तर प्रदेश के...

बाल्टी वाले निर्दलीय ने खुद को घोषित किया भाजपा प्रत्याशी

जयपुर। निर्दलीय प्रत्याशी ने खुद को अपने ही स्तर पर भाजपा का प्रत्याशी घोषित कर दिया है। मजेदार बात यह कि प्रत्याशी...

सरकार को 10 दिन समय, बेरोजगार फिर आंदोलन की राह तलाशेंगे: यादव

-अधिकारियों की तानाशाही और मंत्रियों की लापरवाही को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने आंदोलन की दी चेतावनी, सरकार को दिया 10...
- Advertisement -