2 साल से मंदिर ढोकने वाले कांग्रेसी कहतें हैं जाति-धर्म के नाम पर नहीं लड़ेंगे चुनाव

32
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

गुलाम नबी बोले: चुनावों में राममंदिर कांग्रेस का मुददा नहीं।

जयपुर। राजस्थान सहित देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेजी से आगे बढ़ रही है। चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेताओं द्वारा एक दूसरे पर कीचड़ उछालने का काम शुरू हो चुका है।

पूरे देश में राम मंदिर निर्माण को लेकर छिड़ी बहस के बीच आरएसएस में 1 दिन पहले ही कहा है, कि यदि सुप्रीम कोर्ट हिंदुओं की आस्था को लेकर कोई निर्णय नहीं देता है तो 1992 की तरह एक बार फिर से बड़ा आंदोलन किया जा सकता है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अभी 2 दिन पहले ही आरएसएस के मोहन भागवत से मुंबई में रात को 2 बजे मुलाकात कर चुके हैं।

लेकिन इस मामले में अब कांग्रेस ने साफ कर दिया है कि वो राम मंदिर के मुददे पर कोई बात नही करेंगे।कांग्रेस नेता गुलाम नबी ने कहा कि ये भाजपा के मुददे हैं, कांग्रेस का मुददा विकास है। आज़ाद ने कहा कि हमारा मुददा जोडने का है, तोडने का नहीं।

काग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री गुलाम नबी ने कहा कि चुनावों में हम इस तरह का मुददा नहीं उठाते, जिसमें समूदायों को लड़ाया जाए। उन्होंने कहा कि जब हम इलेक्शन लडेंगे, तो विकास पर लड़ेंगे, धर्म और जाति के नाम पर चुनाव नहीं लडेंगे।

गौर करने वाली बात यह भी है कि बीते 2 साल से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मंदिर ढोकने में लगी हुए हैं। गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी द्वारा सॉफ्ट हिंदुत्व के नाम से शुरू किया गया अभियान कर्नाटक चुनाव से होते हुए मध्य प्रदेश, राजस्थान, मिजोरम, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव तक पहुंच चुका है।

गौरतलब है कि अप्रैल महीने देश में लोकसभा चुनाव होने हैं। उससे पहले सभी राजनीतिक पार्टियां राम मंदिर, विकास, गाय समेत तमाम उन मुद्दों को उछालने के लिए आतुर हैं, जो मतदाताओं के लिए इमोशनल हो सकते हैं।

9828999333 पर सम्पर्क कर आप भी हमारी टीम का हिस्सा बनिए। ऐसी ही और खबरों के लिए फेसबुक और ट्वीटरऔर यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।