Jyoti khandelwal congress
Jyoti khandelwal congress

जयपुर। कांग्रेस की नेत्री, जिनको हाल ही में जयपुर शहर की सीट से लोकसभा का टिकट मिला है, वह स्टिंग ऑपरेशन में अटक गईं हैं।

TV9-भारतवर्ष की अंडरकवर टीम से कांग्रेस की जयपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार ज्योति खंडेलवाल ने कहा, “अगर मैं सांसद बन गईं तो टेंडर ज़रूर मिलेगा।”

अगर चुनाव में 5 करोड़ की मदद मिली तो बदले में सरकारी ठेकेदारी ज़रूर मिलेगी।

कालाधन के दम पर चुनाव लड़ने को तैयार कांग्रेस की ये नेता पूरी तरह बेनकाब हो चुकी हैं।

सवाल ये है क्या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी पार्टी के चुनावी प्रत्याशी के खिलाफ कोई कार्रवाई करेंगे?

सवाल ये है ऐसे भ्रष्ट नेताओं को संसद तक पहुंचने से आखिर कैसे रोका जाए?

ऑपरेशन भारतवर्ष में अंडर कवर रिपोर्टर से ज्‍योति खंडेलवाल ने क्‍या-क्‍या कहा-

चुनाव में ख़र्च होंगे 10 करोड़ रुपये

ज्योति खंडेलवाल– बहुत बड़ा चुनाव है। 20 लाख के आसपास वोटर हैं।

ज्योति खंडेलवाल का पति– Regular चुनाव में लोग मानते हैं 10 के आसपास। 10 के आसपास मानते हैं।

रिपोर्टर– 10?

ज्योति खंडेलवाल का पति– 10 के lumpsum मानते हैं।

रिपोर्टर– 10 CR?

ज्योति खंडेलवाल का पति- जो मान कर चल रहे हैं…

रिपोर्टर– हम 10 तो नहीं करा पाएंगे।

ज्योति खंडेलवाल का पति– नहीं बता रहे हैं.

रिपोर्टर– हम 5 तक करा देंगे।

ज्योति खंडेलवाल का पति– हम बैठकर बात कर रहे हैं। आप कुछ कराओगे या नहीं कराओगे। हम नहीं जानते।

रिपोर्टर– हां, वो तो होता ही है।

ज्योति खंडेलवाल– क्योंकि मेरे को तो चुनाव लड़ना ही है। अगर हमको टिकट मिल गया आप लगाओगे या नहीं?

रिपोर्टर– बिल्कुल, बिल्कुल, हो चाहे नहीं हो लड़ना तो है ही।

ज्योति खंडेलवाल का पति– हमारी पार्टी में बल्कि बता रहा हूं, आज बात हो रही थी कि इतना मोटा खर्चा है हमें चुनाव लड़ना है, लड़ रहे हैं और जीतने के लिए लड़ते हैं, पर जीतने में पैसा आड़े नहीं आएगा।

ज्योति खंडेलवाल– पैसे की वजह से चुनाव नहीं हारेंगे।

ज्योति खंडेलवाल का पति– पैसा जो है, हमसे बोला हमने बोल दिया कल।

रिपोर्टर– क्या?

ज्योति खंडेलवाल का पति– कि पैसा खर्च होगा मोटा, उसमें दिक्कत तो नही आएगी ना?

रिपोर्टर– अच्छा।

ज्योति खंडेलवाल का पति– हां, बात हो गई।

रिपोर्टर– AICC में?

ज्योति खंडेलवाल का पति- और क्या! कल ही बात हुई है, मैंने कहा पैसे की वजह से कहीं चुनाव में दिक्क्त नहीं आएगी, अपनी पार्टी की वजह से और आप दिल्ली में कोई उल्टे–सीधे decision ले लोगे उसकी वजह से दिक्कत आएगी वो एक अलग बात है। हम चुनाव लड़ रहे हैं जीतने के लिए लड़ रहे हैं।

ज्योति खंडेलवाल– पैसे की कमी से चुनाव नहीं हारेंगे। At least पैसे की कमी से तो नहीं हारेंगे।

ज्योति खंडेलवाल का पति– Entertainment के लिए चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।

लोकसभा चुनाव में अपनी उम्मीदवारी कन्फर्म करने के लिए ज्योति खंडेलवाल और उनके पति ने ऐसे रखी अपनी दावेदारी।

खुफिया कैमरे से बेखबर इन दोंनों ने AICC यानि ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी का नाम लिया। ये वो कमेटी है जो कांग्रेस उम्मीदवारों की लिस्ट तैयार करने में अहम भूमिका निभाती है।

सवाल ये है क्या पैसे के दम पर ही ज्योति खंडेलवाल ने अपना टिकट पक्का करवाया?

टीवी 9 भारतवर्ष के अंडरकवर रिपोर्टर्स ने आगे ज्योति खंडेलवाल और उनके पति से पूछा कि 10 करोड़ रुपए की मोटी रकम आखिर चुनाव में कहां खर्च होगी? इनका जवाब बिल्कुल तैयार था।

बूथ मैनेजमेंट से सबसे ज्‍यादा ख़र्चा’

रिपोर्टर– सर अभी कोई बजट बनाया है? कैसे, किस तरह से, कितना, क्या करेगें? अभी अपने बताया 10 करोड़ तक खर्चा आएगा।

ज्योति खंडेलवाल का पति– मैंने अंदाजा बताया कि हमारे करीब 8 विधानसभा हैं, पिछली बार जो चुनाव था रामचरण बोहरा… उसमें 10 से ऊपर खर्च हुआ। ये बात है 5 साल पुरानी। 5 साल बाद अपन मानते हैं कि… जहां जरूरत है वहां पैसा खर्च होना चाहिए।

रिपोर्टर– सबसे ज्यादा खर्च किस चीज में होता है?

ज्योति खंडेलवाल का पति– वो अभी बनाया नहीं है?

रिपोर्टर– अंदाजा?

ज्योति खंडेलवाल का पति– एक तो सबसे ज्यादा होता है same day, बूथ है 1873, हर बूथ पर बंदे बैठते हैं। अंदर-बाहर, उनका उस दिन का नाश्ते का, खाने का same day होता है, उसके बाद advertisement।

रिपोर्टर– 9 हजार?

ज्योति खंडेलवाल का पति– 9 हजार नहीं… बाहर टेबल लगती है और अंदर भी बैठते हैं, 2 अंदर बैठते हैं, 2 बाहर होते हैं, हर टेबल पर. हर बूथ पर 20 से 25 जने, वोट निकालने वाले होते हैं समर्थक. जो पर्ची वाले होते हैं। हर बूथ पर अपना एक माहौल बनाने के लिए, भाई, 1 बूथ पर 1100 से 1500 वोटर होते हैं। अगर वहां पर अपने 15-20-25 लोग बूथ पर खडे़ नहीं हैं तो आपकी क्या पकड़ है वहां पर।

रिपोर्टर– सही बात है।

1 नंबर का खर्च सिर्फ दिखाने के लिए

रिपोर्टर– हम जो आपको 5 करोड़ देंगे। वे कैश में या किस तरीके से? मतलब mode क्या होगा?

ज्योति खंडेलवाल का पति– वो देखना पड़ेगा हमको माहौल। क्योंकि वहां एक नम्बर का भी सिस्टम रहेगा, बाक़ी 2 नम्बर… एक नम्बर का सिस्टम तो सिर्फ norms के हिसाब से खर्च के लिए है। उसमें भी 10–20 लाख रुपए कम ही बताना…।

रिपोर्टर– हां।

ज्योति खंडेलवाल का पति– जैसे आज 10 लाख खर्चा करना है norms के अनुसार तो 4 या 5 लाख का ही खर्चा देंगे, कि इतना ही खर्च हो रहा है। बाकि तो 2 नम्बर का ही सिस्टम होता है।

रिपोर्टर– हम जो आपको 5 करोड़ देंगे, वे कैश में या किस तरीके से? मतलब mode क्या होगा?

ज्योति खंडेलवाल का पति– वो देखना पड़ेगा हमको माहौल, क्योंकि वहां एक नम्बर का भी सिस्टम रहेगा, बाक़ी 2 नम्बर… एक नम्बर का सिस्टम तो सिर्फ norms के हिसाब से खर्च के लिए है, उसमें भी 10–20 लाख रुपए कम ही बताना…।

रिपोर्टर– हां।

ज्योति खंडेलवाल का पति– जैसे आज 10 लाख खर्चा करना है norms के अनुसार तो 4 या 5 लाख का ही खर्चा देंगे कि इतना ही खर्च हो रहा है, बाकि तो 2 नम्बर का ही सिस्टम होता है।

5 करोड़ के बदले मिलेंगे सरकारी टेंडर

रिपोर्टर– 5 साल जो आपको मौका मिलेगा उसमें, आपको हमको थोड़ा support करना पड़ेगा, MP fund में काफी वो रहता है, बहुत सारे काम होते हैं।

ज्योति खंडेवाल- मैंने तो पहले ही कहा था कि अपने जानकारी में लोगों को ठेकेदारी में रखेंगे तो फायदा पहुंचेगा जानकार को, उसमें हमें क्या दिक्कत!

रिपोर्टर– क्योंकि टेंडर आपको देना ही है किसी न किसी को।

ज्योति खंडेवाल– किसी न किसी को काम देना ही है, अपने जानकार को मिलता है तो इतना बड़ा issue कहां है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।