29 C
Jaipur
बुधवार, सितम्बर 23, 2020

गठीली मांसपेशियां ही मर्दानगी क्यों हैं, कोमलता क्यों नहीं: शबाना आजमी

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई, 29 अगस्त (आईएएनएस) अभिनेत्री शबाना आजमी का मानना है कि अगर हमें लैंगिक समानता स्थापित करना है, तो महिलाओं को सशक्त बनाने के साथ-साथ पुरुषों को भी मर्दानगी की परिभाषा बदलने की जरूरत है।
शबाना ने हाल ही में अपने भाई बाबा आजमी के निर्देशन में बनी फिल्म मी रक्सम प्रस्तुत की है। फिल्म एक ऐसे मुस्लिम पिता के बारे में है, जो अपनी युवा बेटी की भरतनाट्यम नर्तकी बनने के सपने को हासिल करने में उसकी मदद करने के लिए अपनी बनी-बनाई परिपाटी से अलग राह चुनते हैं।

शबाना ने आईएएनएस से कहा, फिल्म में पिता सलीम के चरित्र का एक बहुत ही खास गुण यह है कि वह पत्नी के निधन के बाद अपनी 15 साल की लड़की के पिता और मां दोनों रहते हैं। पिता के लिए एक किशोरी बेटी को मां की तरह पालना आसान नहीं है। मुझे लगता है कि महिलाएं अपने बच्चों के लिए पिता और मां दोनों भूमिकाओं में बेहतर हैं। जब पुरुषों की बात आती है, तो शायद वे नहीं हैं। इसीलिए सलीम का चरित्र बहुत ही खास था, यह मर्दानगी को फिर से परिभाषित करने जैसा था।

उन्होंने समझाते हुए आगे कहा, वर्तमान में मर्दानगी के विचार के आसपास विषाक्त सोच फैली हुई है। मर्दानगी का अर्थ है, गठीली मांसपेशियां, शक्तिहीन से अधिक शक्ति पाना, जो कि एक जहरीली चीज है। हां यह सच है कि हम चाहते हैं कि महिलाएं बदलें और स्वतंत्र बनें। लेकिन लैंगिक समानता स्थापित करने के लिए हमें पुरुषों में भी बदलाव की जरूरत है। मर्दानगी कोमलता, सहानुभूति और सहायक होने के बारे में क्यों नहीं है? हम जो नए प्रगतिशील आदमी में सभी गुणों की तलाश करते हैं, हमें वह सलीम के चरित्र में मी रक्सम में दिखाई देता है।

फिल्म में दानिश हुसैन और अदिति सूबेदार हैं, और यह जी5 पर उपलब्ध है।

–आईएएनएस

एमएनएस/वीएवी

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
गठीली मांसपेशियां ही मर्दानगी क्यों हैं, कोमलता क्यों नहीं: शबाना आजमी 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

उप्र : पूर्व सांसद अतीक अहमद का आवास पीडीए ने जमींदोज किया

प्रयागराज, 22 सितंबर (आईएएनएस)। पूर्व सांसद व माफिया अतीक अहमद का प्रयागराज स्थित चकिया में उनका आवास पीडीए ने ध्वस्त कर दिया। मंगलवार को...
- Advertisement -

किसानों के हितों पर चोट करने में भाजपा को जरा भी हिचक नहीं : अखिलेश

लखनऊ, 22 सितंबर (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि किसानों के हितों पर...

खरीफ सीजन में खाद्यान्नों के रिकॉर्ड 14.45 करोड़ टन उत्पादन का अनुमान

नई दिल्ली, 22 सितंबर (आईएएनएस)। देश में इस साल खरीफ सीजन में 14.45 करोड़ टन खाद्यान्नों का उत्पादन होने का अनुमान है, जो बीते...

मप्र सरकार किसानों को हर साल देगी 4 हजार रुपये साल

भोपाल, 22 सितंबर (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना की तरह राज्य के किसानों को हर साल चार हजार रुपये की अतिरिक्त...

Related news

प्रधान पिंकी चौधरी की अशोक को छोड़ नए प्रेमी के साथ भागने की अफवाह?

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति क्षेत्र से प्रधान पिंकी चौधरी के 1 महीने पहले अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भागने...

सचिन पायलट को फंसाने चले थे, अशोक गहलोत खुद आये लपेटे में

भोपाल/जयपुर। मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के पूर्व...

आईपीएल-13 : बेंगलोर ने हैदराबाद को 10 रनों से दी शिकस्त

दुबई, 21 सितंबर (आईएएनएस)। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने सोमवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-13 के मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को 10...

हनुमान बेनीवाल ने स्थानीय लोगों को नौकरी देने के लिए संसद में उठाई यह मांग

-आरोप-प्रत्यारोप से उपर उठकर मजदूर हितों पर हो सामूहिक चिंतन, 80 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोज़गार देने का बनाया जाए प्रावधान -...
- Advertisement -