जयपुर/भोपाल/रायपुर।

राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में हुए विधानसभा चुनाव के बाद सभी को परिणामों का इंतजार है। इस बीच कांग्रेस पार्टी में मुख्यमंत्री के लिए जंग शुरू हो चुकी है। यह जंग केवल राजस्थान तक सीमित नहीं है, बल्कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी जारी है।

राजस्थान में जहां पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट और नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी के द्वारा मुख्यमंत्री पद पर दावेदारी जताई जा रही है, वहीं मध्य प्रदेश में कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच लड़ाई चल रही है।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सरकार बनती नजर नहीं आ रही है। तेलंगाना में टीआरएस के साथ भाजपा की बात चल रही है, वहीं कांग्रेस भी अपने दम पर सरकार बनाने का दावा कर रही है। मिजोरम में कांग्रेस पार्टी सत्ता से कोसों दूर है।

राजस्थान में अशोक गहलोत ने खुद का प्राकृतिक रूप से मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताया है। प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट पांच साल के खुद के संघर्ष के दम पर दावा ठोक रहे हैं, वहीं नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी सदन में सरकार के साथ लोहा लेने के दम पर सीएम की कुर्सी खुद के लिए मुफीद मान रहे हैं।

अशोक गहलोत दो बार सीएम रह चुके हैं। 1998 के दौरान पहली बार मुख्यमंत्री बने। इसके बाद कांग्रेस को साल 2003 में सत्ता गंवानी पड़ी। वर्ष 2008 में कांग्रेस ने जोड़तोड़ से फिर सत्ता में वापसी की।

इस बार फिर से अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बने, लेकिन 2013 में फिर से कांग्रेस को करारी हार का मुंह देखना पड़ा। इस बार पार्टी इतिहास की सबसे कम, केवल 21 सीटें जीत सकी।

इधर, सचिन पालयट पांच साल से प्रदेशाध्यक्ष हैं। इस दौरान उन्होंने दो बार हुए उपचुनाव में कांग्रेस को जीत दिलाकर फिर से प्रतियोगिता में खड़ा कर दिया। इससे पहले पायलट 2004 और 2009 में सांसद रह चुके हैं। 2012 से 2014 तक पायलट केंद्रीय राज्यमंत्री भी रहे थे।

नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी को तत्कालीन अध्यक्षा सोनिया गांधी के निर्देश पर यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी। पांच साल में सदन के भीतर डूडी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने कई बार सरकार को घेरने का काम किया।

उनके साथ देने के लिए हनुमान बेनीवाल और बीजेपी के विधायक घनश्याम तिवाड़ी रहे। इससे पहले डूडी एक बार बीकानेर से लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।