mujaffarpur health news
mujaffarpur health news

new delhi।
बिहार के मुजफ्फरपुर में बीते दो सप्ताह में 133 बच्चों की मौत ने देश को झकझोर दिया है। इस सिलसिले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांड़े पर केस दर्ज हो गया है।

बताया जा रहा है कि इस जिले में यह बीमारी बीते 25 साल से बच्चों की मौत का कारण बनी हुई है, किंतु पिछले ​10 साल के दौरान इसका दायरा बढ़ गया है।

खास बात यह है कि इस रोग के कारणों का न तो पता चल रहा है और न ही बीमारी का नाम पता है। डॉक्टर दवा भी अपने हिसाब से दे रहे हैं।

पटना से महज 72 किलोमीटर दूर मुजफ्फरपुर में अभी भी दो अस्पतालों में 155 बच्चे भर्ती हैं, जहां उनका उपचार किया जा रहा है।

बच्चों के परिजनों में बीमारी का भय इतना ज्यादा है कि अधिकांश ने अपने बच्चों को रिश्तेदारों के यहां भेज दिया है,​ जिनको वापस लाना ही नहीं चाहते हैं।

गंभीर बात यह है कि जब बीमारी पर उच्च स्तरीय बैठक चल रही थी, तब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाड़े मैच का स्कोर पूछ रहे थे, इसका वीडियो वायरल होने के बाद एक संस्था ने उनके और केंद्रीय मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है।