23 C
Jaipur
शनिवार, अक्टूबर 31, 2020

पास्ता के लिए ड्यूरम गेहूं उगाने पर जोर, सेमोलिना की इटली तक धमक

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 22 सितंबर (आईएएनएस)। पराठे की जगह पास्ता के लिए खास किस्म का गेहूं उगाना किसानों के लिए ज्यादा फायदेमंद साबित हो रहा है, क्योंकि गेहूं की इस किस्म का उनको अधिक दाम मिल रहा है। गेहूं की यह खास किस्म है ड्यूरम जिसके सेमोलिना यानी रवा का इस्तेमाल पास्ता बनाने में होता है। ड्यूरम से बने सेमोलिना की मांग देश-विदेश के बाजारों में है, यहां तक कि इसकी धमक इटली तक पहुंच चुकी है।
ग्लोबल फूड के रूप में विकसित पास्ता एक महत्वपूर्ण व्यंजन के तौर पर इटली का पर्याय बन चुका है। पास्ता के लिए जो सेमोलिना इस्तेमाल होता है वह ड्यूरम किस्म के गेहूं से बनता है जो बादामी रंग का होता है। भारत में मध्यप्रदेश के मालवा क्षेत्र और राजस्थान के कोटा और बूंदी में ड्यूरम में इसकी बहुतायत में खेती होती है।

इंदौर के कारोबारी और सेमोलिना के निर्यातक पंकज गोयल ने बताया कि सेमोलिना का उपयोग पास्ता बनाने में होता है जोकि आज के दिनों में एक ग्लोबल फूड बन चुका है, इसलिए देश-विदेश के बाजारों में सेमोलिना की काफी मांग है। उन्होंने कहा कि मध्य-पूर्व समेत एशिया के कई देशों में भारत से प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद के तौर पर सेमोलिना का निर्यात होता है। उन्होंने कहा कि इन दिनों कीमत में अंतर को लेकर अड़चन आ रही है, लेकिन इटली में भी निर्यात के अवसर है, क्योंकि वहां इसकी जबरदस्त मांग है।

- Advertisement -satish poonia

गोयल ने बताया कि इस समय भारत से सेमालिना 480 डॉलर प्रतिटन (एफओबी) पर जा रहा है।

उज्जैन के जींस कारोबारी संदीप सारदा ने बताया कि ड्यूरम गेहूं की औद्योगिक मांग जबरदस्त होती है, क्योंकि इसमें चमक काफी होती है और ग्लूटेन और प्रोटीन की मात्रा अधिक होने से इसकी औद्योगिक हमेशा बनी रहती है। उन्होंने बताया कि इस बार बारिश के चलते फसल थोड़ी कमजोर रही है इसके लिए चमक पर असर पड़ा है, फिर भी इसका बाजार भाव 2,250 रुपये प्रतिक्विंटल तक है।

राजमाता विजयराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के निदेशक (अनुसंधान सेवा) डॉ. एम.पी. जैन ने आईएएनएस को बताया कि भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) के इंदौर स्थित क्षेत्रीय गेहूं अनुसंधान केंद्र द्वारा ड्यूरम गेहूं की किस्म विकसित की गई है। उन्होंने बताया कि पूसा तेजस, मालव राज, मालव शक्ति आदि ड्यूरम गेहूं की कई वेरायटी है, जिसकी पैदावार 60 क्विंटल प्रतिहेक्टेयर होती है और इसमें जिंक व आइरन की मात्रा अधिक होती है। उन्होंने कहा कि गेहूं की इस किस्म का औद्योगिक उपयोग ज्यादा होता है।

मध्यप्रदेश के मालवा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले धार जिले के कुछ युवा किसान सोसायटी बनाकर जैविक पद्धति से उगाई जाने वाले गेहूं की ड्यूरम किस्म की व्यापक तरीके से मार्केटिंग कर रहे हैं। पास्ता के लिए इस्तेमाल होने वाले इस गेहूं की उनको अच्छा दाम मिल रहा है।

राजस्थान के बूंदी के जींस कारोबारी उत्तम जेठवानी ने बताया कि गेहूं का इस समय अच्छा दाम नहीं मिल रहा है, क्योंकि मांग कमजोर है। फिर भी मिल क्वालिटी के गेहूं के मुकाबले ड्यूरम वेरायटी कस गेहूं 200-250 रुपये प्रतिक्विंटल ऊंचे भाव पर बिक रहा है।

–आईएएनएस

पीएमजे/एसजीके

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
पास्ता के लिए ड्यूरम गेहूं उगाने पर जोर, सेमोलिना की इटली तक धमक 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

बुमराह ने रबादा से छीना पर्पल कैप

नई दिल्ली, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर दिल्ली कैपिटल्स के तेज...
- Advertisement -

विज्ञापनों पर केंद्र ने एक साल खर्च किए 713.20 करोड़ रुपये : आरटीआई

मुंबई, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत सरकार ने वित्त वर्ष 2019-2020 के दौरान विज्ञापनों पर 713.20 करोड़ रुपये खर्च किए, जिसमें सबसे ज्यादा खर्च इलेक्ट्रॉनिक...

कश्मीर में जिहाद समर्थक सभाएं रोकने को 125 आतंकियों के शव नहीं सौंपे गए

श्रीनगर, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। आतंकवाद विरोधी अभियानों के दौरान मारे गए लगभग 125 स्थानीय आतंकवादियों को इस साल जम्मू-कश्मीर में उनके घरों से दूर-दराज...

आईपीएल में पावरप्ले में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने बाउल्ट

नई दिल्ली, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज ट्रेंट बाउल्ट ने शनिवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेले गए मैच में सलामी...

Related news

समदड़ी प्रधान Pinky choudhary रहना चाहती हैं अपने पुराने पति के साथ, पर यह है बड़ा संकट

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति के निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी अपने कथित प्रेमी और वर्तमान पति अशोक चौधरी से 2 महीने...

पिंकी चौधरी 2 महीने पहले धोखा देकर प्रेमी के साथ भागी, अब फिर चाहती है पति का प्यार

बाड़मेर। पंचायत समिति समदड़ी की निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी 2 महीने पहले पति को धोखा देकर प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भाग...

समदड़ी प्रधान पिंकी चौधरी को प्रेमी ने बनाया बंधक, फ़ोटो, वीडियो किये वायरल

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति से निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी ने अशोक चौधरी नामक एक व्यक्ति, जिसको कथित तौर पर पिंकी...

Pinky Choudhary पहले प्रेमी के साथ भागी, अब अपने पति के साथ जाना चाहती है

बाड़मेर। जिले की समदड़ी पंचायत समिति (Samdadi) प्रधान पिंकी चौधरी (Pinky Choudhary) अपने प्रेमी के साथ भाग गई। उसके साथ शादी कर...
- Advertisement -