36 C
Jaipur
रविवार, सितम्बर 20, 2020

रिकॉर्ड 11 करोड़ हेक्टेयर में खरीफ फसलों की बुवाई, 5.68 फीसदी बढ़ा रकबा

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 11 सितंबर (आईएएनएस)। देशभर में खरीफ फसलों की बुवाई रिकॉर्ड 11 करोड़ हेक्टेयर से ज्यादा भूमि में हो चुकी है, जोकि पिछले साल के मुकाबले 5.68 फीसदी अधिक है। तिलहनी फसलों के रकबे में 10 फीसदी से ज्यादा का उछाल आया है जबकि धान की बुवाई पिछले साल से पांच फीसदी से ज्यादा हुई है।
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देशभर में खरीफ फसलों की बुवाई चालू सीजन में 1104.54 लाख (11.04 करोड़) हेक्टेयर है जोकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के आंकड़े 1045.18 लाख हेक्टेयर 5.68 फीसदी अधिक है।

मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, धान (चावल) की बुवाई अब भी जारी है जबकि दलहन,मोटे अनाज और तिलहन की बुवाई लगभग हो चुकी है। खरीफ सीजन के लिए बुवाई के अंतिम आंकड़े एक अक्टूबर 2020 को जारी होंगे। लिहाजा, बुवाई के रकबे में और इजाफा हो सकती है।

धान की बुवाई चालू सीजन में 402.25 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान धान का रकबा 373.87 लाख हेक्टेयर था। इस प्रकार धान रकबा पिछले साल से 7.59 फीसदी बढ़ा है।

दलहनी फसलों की बुवाई इस साल 137.87 लाख हेक्टेयर में हुई है जोकि पिछले साल की समान अवधि से 4.64 फीसदी ज्यादा है।

मोटे अनाजों का रकबा इस साल 179.70 लाख हेक्टेयर है जो पिछले साल से 1.28 फीसदी अधिक है।

तिलहनी फसलों की बुवाई अब तक 195.99 लाख हेक्टेयर हुई है जबकि पिछले साल की समान अवधि में तिलहनों का रकबा 176.91 लाख हेक्टेयर था। तिलहनों का रकबा इस बार 10.9 ज्यादा है। विशेषज्ञ बताते हैं कि तिलहनों की खेती में किसानों की दिलचस्पी खाद्य तेल के आयात पर निर्भरता कम करने की दिशा में एक सकारात्मक संकेत है क्योंकि तिलहनों का उत्पादन बढ़ेगा तो कम तेल आयात करने की जरूरत होगी।

गन्ना का रकबा पिछले साल से 1.37 फीसदी बढ़कर 52.46 लाख हेक्टेयर हो गया है जबकि कपास का रकबा पिछले साल के 126.61 लाख हेक्टेयर से 2.12 फीसदी बढ़कर 129.30 लाख हेक्टेयर दर्ज किया गया है।

जूट और मेस्टा की खेती पिछले साल जहां 6.86 लाख हेक्टेयर हुई थी वहां इस बार 6.97 लाख हेक्टेयर में हुई है।

कृषि मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि बुआई के आंकड़ों से जाहिर है कि कोविड-19 महामारी का खरीफ फसलों की बुवाई पर कोई असर नहीं पड़ा

है। बयान के अनुसार, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय और राज्य सरकारों ने मिशन कार्यक्रमों और फ्लैगशिप योजनाओं के सफल कार्यान्वयन के लिए समुचित कदम उठाए और केंद्र सरकार द्वारा समय पर बीज, कीटनाशक, उर्वरक, मशीनरी और ऋण जैसी सुविधाएं किसानों को उपलब्ध कराई गईं।

–आईएएनएस

पीएमजे/जेएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
रिकॉर्ड 11 करोड़ हेक्टेयर में खरीफ फसलों की बुवाई, 5.68 फीसदी बढ़ा रकबा 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

करिश्मा ने श्रीदेवी संग किए काम को याद किया

मुंबई, 20 सितंबर (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेत्री करिश्मा कपूर फिल्म शक्ति : द पावर में दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी के साथ काम करके खुद को सम्मानित...
- Advertisement -

सरकार किसानों की एमएसपी कैसे सुनिश्चित करेगी : चिदंबरम

नई दिल्ली, 20 सितंबर (आईएएनएस)। कृषि से संबंधित दो बिल रविवार को संसद में पारित हो गया, जिसके बाद पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने...

उप्र में जल्द की जाएगी गिद्धों की गणना

पीलीभीत, 20 सितंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में जल्द ही लखनऊ विश्वविद्यालय में वन्यजीव संरक्षण संस्थान (आईडब्ल्यूसी) द्वारा गिद्धों की गणना की जाएगी।वन कर्मियों, एनजीओ...

शाओमी लेकर आ रहा है 108 मेगा पिक्सल कैमरे वाला फोन

बीजिंग, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी स्मार्टफोन निर्माता शाओमी एक ऐसे स्मार्टफोन पर काम कर रहा है, जिसका कैमरा 108 मेगापिक्सल का होगा और यह...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

अलवर में 5-6 जनों ने बलात्कार किया, फिर मामी के साथ भांजे को शारिरीक सम्बन्ध बनवा वीडियो वायरल किया

अलवर। लोकसभा चुनाव के दरमियान अलवर में थानागाजी क्षेत्र में एक विवाहित लड़की के साथ गैंगरेप करने और उसका वीडियो वायरल करने...

दिल्ली में 5 अक्टूबर तक सभी स्कूल रहेंगे बंद : सरकार (लीड-1)

नई दिल्ली, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। कोरोनावायरस मामलों में वृद्धी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि यहां 5 अक्टूबर तक सभी...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...
- Advertisement -