31 C
Jaipur
शनिवार, सितम्बर 26, 2020

चीन में नए बुनियादी संस्थापनों के निर्माण का मौका

- Advertisement -
- Advertisement -

बीजिंग, 25 अगस्त (आईएएनएस)। चीन पिछले दसेक सालों से तेजी से विकास की सीढ़ियां चढ़ रहा है। हर कुछ सालों में चीन एक न एक नई प्रगति जरूर हासिल करता है। चीनी लोगों को लगता है कि उनका जीवन स्तर लगातार उन्नत हो रहा है और देश में बड़ा परिवर्तन हो रहा है।
अभी भी फैल रही कोविड-19 महामारी से अंतर्राष्ट्रीय ढांचे में बड़ा बदलाव आया है। चीन ने सफलतापूर्वक महामारी पर काबू पा लिया है, जबकि पश्चिमी देशों में स्थिति गंभीर बनी हुई है। चीन सरकार ने अस्थिर बाहरी वातावरण से निपटने में दीर्घकालीन योजना बनाई है, जिसमें नए प्रकार के बुनियादी संस्थापनों का निर्माण सबका ध्यान खींच रहा है, क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय ढांचा संभवत: इससे बदल जाएगा।

चीनी लोगों की नजर में संकट खतरा ही नहीं, मौका भी है। महामारी की वजह से विश्व आर्थिक मंदी छाई हुई है, इसके बावजूद चीन ने नए बुनियादी संस्थापनों के निर्माण को तेज करने का निर्णय लिया है। इससे भविष्य के जीवन पर बड़ा असर पड़ेगा।

महामारी की रोकथाम के दौरान चीनी लोगों ने डिजिटल जीवन का अनुभव किया है। करोड़ों छात्रों ने घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा हासिल की, करोड़ों लोगों ने ऑनलाइन ऑफिस खोला, अमूमन सभी खरीददारी ऑनलाइन ही होने लगी हैं। हर व्यक्ति के मोबाइल फोन में एक हेल्थ कोड होता है। कहा जा सकता है कि जब दुनिया की गति थम गई, तो चीनी लोगों ने मोबाइल फोन से नई जीवन शैली को गति दी। पश्चिमी देशों के लोग आज भी नकद, चेक और क्रेडिट कार्ड से खरीददारी करते हैं, जबकि पूरा चीन कैशलेस युग में प्रवेश कर चुका है। सभी चीजें सबसे तेज गति से घरों में डिलिवर होने लगी हैं। डिजिटल प्रौद्योगिकी के प्रयोग में चीन दुनिया में सबसे आगे है।

तो नए बुनियादी संस्थापन की विशेषता क्या है? रेलवे, राजमार्ग और हवाई अड्डा, ये सब पारंपरिक बुनियादी संस्थापन हैं, जबकि नए बुनियादी संस्थापन उच्च तकनीक के साथ घनिष्ठा से जुड़े हुए हैं, डिजिटलीकरण, सूचना और बुद्धिमता पर निर्भर रहते हैं।

नए बुनियादी संस्थापन का निर्माण आज के चीन में साकार हो सकता है। इससे पहले चीन में 5जी, बिग डेटा, आर्टफिशियल ंटेलिजंस, औद्योगिक इंटरनेट जैसी तकनीक पूरी तरह उपलब्ध नहीं होती। अब चीन में आर्थिक स्तर, बाजार का पैमाना और तकनीकी कौशल पर्याप्त है, इसलिए नए बुनियादी संस्थापन का निर्माण तेजी से हो रहा है।

कहा जा सकता है कि आर्थिक वृद्धि निवेश, खपत और विदेशी व्यापार पर निर्भर है, तो निवेश को बढ़ाना आर्थिक विकास के लिए अपरिहार्य है। नए बुनियादी संस्थापन में पूंजी लगाने से अर्थव्यवस्था पर महामारी का प्रभाव कम किया जा सकता है। निजी निवेश इसमें और बड़ी भूमिका निभाएगा।

वहीं, नए बुनियादी संस्थापन चीन में आर्थिक परिवर्तन और वृद्धि की प्रगति है। चीन उच्च तकनीक, विशेषकर डिजिटल तकनीक के जरिए परंपरागत व्यवसाय में परिवर्तन बढ़ाना चाहता है। नए बुनियादी संस्थापन से न सिर्फ रोजगार के अवसर पैदा होंगे, बल्कि नए व्यवसाय का विकास भी बढ़ेगा।

इसके अतिरिक्त, नए बुनियादी संस्थापन से चीन में बढ़ रही उपभोक्ता की मांग पूरी की जाएगी। महामारी के दौरान ऑनलाइन गेम्स, ऑनलाइन शिक्षा, टेलकम्यूटिंग, वीडियो कांफ्रेंसिंग, ऑनलाइन बिक्री और लॉजिस्टिक एक्सप्रेस आदि की मांग तेजी से बढ़ी है, जो सब आर्टफिशल इंटेलिजेंस, बिग डेटा, क्लाउडिंग आदि तकनीक पर निर्भर हैं। विश्व आर्थिक मंदी में चीन घरेलू खपत पूरा करने से आर्थिक वृद्धि बनाए रखेगा।

(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
चीन में नए बुनियादी संस्थापनों के निर्माण का मौका 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आईपीएल-13 : फिर हारी चेन्नई, अकेले लड़े फाफ (राउंडअप)

दुबई, 25 सितंबर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में खेल रही चेन्नई सुपर किंग्स को शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें...
- Advertisement -

बल्लेबाजी में कमी को सुधारना होगा : धोनी

दुबई, 25 सितंबर (आईएएनएस)। दिल्ली कैपिटल्स के हाथों शुक्रवार को मात खाने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा...

फील्डरों के लिए परिस्थति मुश्किल थी : अय्यर

दुबई, 26 सितंबर (आईएनएस)। दिल्ली कैपिटल्स ने शुक्रवार को आईपीएल-13 में चेन्नई सुपर किंग्स को 44 रनों से हरा कर अपनी दूसरी जीत दर्ज...

पूर्वी दिल्ली के बाजार में आग, कोई घायल नहीं

नई दिल्ली, 25 सितम्बर (आईएएनएस)। पूर्वी दिल्ली का शाहदरा जिले में स्थित एक बाजार में शुक्रवार को एक हार्डवेयर की दुकाने में आग लग...

Related news

प्रधान पिंकी चौधरी की अशोक को छोड़ नए प्रेमी के साथ भागने की अफवाह?

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति क्षेत्र से प्रधान पिंकी चौधरी के 1 महीने पहले अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भागने...

25 सितंबर को भारत बंद, 3 कृषि विधायकों के खिलाफ किसान उतरेंगे सड़कों

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के द्वारा हाल ही में संसद में पारित किए गए तीन कृषि विधायकों के खिलाफ 25 सितंबर को...

सचिन पायलट को फंसाने चले थे, अशोक गहलोत खुद आये लपेटे में

भोपाल/जयपुर। मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के पूर्व...

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा से पूछा स्तन (ब्रेस्ट्स) असली हैं या नकली?

मुंबई। फिल्म इंडस्ट्री की अभिनेत्री और मॉडल शर्लिन चोपड़ा ने खुलासा किया है। शर्लिन ने कहा है कि पिछले दिनों जब वह...
- Advertisement -