30 C
Jaipur
मंगलवार, सितम्बर 22, 2020

सब्जियों की महंगाई से राहत नहीं, बरसात की वजह से बढ़े दाम

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 27 जुलाई (आईएएनएस)। आलू, टमाटर समेत तमाम हरी सब्जियों की कीमतें आसमान छू गई हैं और बरसात के सीजन में फसल खराब होने के कारण फिलहाल इनकी महंगाई से राहत मिलने की उम्मीद कम है। बीते एक महीने में हरी सब्यियों की कीमतों में 25 से 100 फीसदी तक का इजाफा हो गया है, जिससे आम उपभोक्ताओं की जेब पर भार पड़ा है।
कारोबारी बताते हैं कि देशभर के कोल्ड स्टोरेज में आलू का भंडार है, फिर भी इसकी कीमतें बढ़ रही हैं। गोभी, टमाटर और परवल समेत कई सब्जियों की खुदरा कीमतें दोगुनी हो गई हैं। एक महीने पहले टमाटर का भाव करीब 40 रुपये प्रति किलो था जो अब 80 रुपये प्रति किलो हो गया है।

ग्रेटर नोएड के सब्जी विक्रेता मोमीन ने कहा कि थोक मंडियों से ही सब्जियां ऊंचे भाव पर आ रही हैं। उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम में हरी सब्जियां खराब हो जाती हैं जिसके कारण दाम में इजाफा हुआ है।

हालांकि थोक कारोबारी बताते हैं कि बरसात के साथ-साथ डीजल के दाम में इजाफा होने की वजह से भी सब्जियों की कीमतों में वृद्धि हुई है।

दिल्ली की आजादपुर मंडी में मंगलवार को आलू का थोक भाव 10 रुपये से लेकर 28 रुपये प्रति किलो था जबकि एक महीने पहले 27 जून को मंडी में आलू का थोक भाव 8 से 22 रुपये प्रति किलो था। प्याज का थोक भाव भी 27 जून को जहां 3.25 रुपये-11.25 रुपये प्रति किलो था वहीं 27 जुलाई को बढ़कर 6.25 से 12.50 रुपये प्रति किलो हो गया। वहीं, टमाटर का थोक भाव 27 जून को 2.50 से 28 रुपये प्रति किलो था जो 27 जुलाई को बढ़कर आठ रुपये 44 रुपये प्रति किलो हो गया।

आजादपुर मंडी कृषि उपज विपणन समिति यानी एपीएमसी के पूर्व चेयरमैन राजेंद्र शर्मा ने कहा कि आमतौर पर बरसात के मौसम में हरी सब्जियों के दाम में वृद्धि होती है। उन्होंने कहा कि इस समय हरी सब्जियों के दाम बढ़ने की कई वजहें हैं जिनमें बारिश और बाढ़ के साथ-साथ डीजल की कीमतों में वृद्धि भी शामिल है। उन्होंने कहा कि भारी बारिश और जगह-जगह बाढ़ की वजह से फसल खराब होने और सप्लाई बाधित होने के कारण सब्जी की कीमतें बढ़ती हैं।

आलू की कीमतों में हो रही वृद्धि के बारे में पूछे जाने पर शर्मा ने कहा कि आलू के दाम में वृद्धि की कोई वजह नहीं है क्योंकि आलू की आपूर्ति की कोई समस्या नहीं है लेकिन ज्यादा मुनाफा कमाने के मकसद से आलू की आवक थोक मंडियों में कम की जा रही है जिससे कीमतें बढ़ रही हैं।

दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार को हरी सब्जियों के दाम (रुपये प्रति किलो):

आलू-30-35 गोभी-100, टमाटर-60-80, प्याज-20-25, लौकी/घिया-30, भिंडी-30-40, खीरा-30-40, कद्दू-30, बैगन-40, शिमला मिर्च-80, तोरई-30-40, करैला-50, परवल-70, मूली साग-50, मटर-120

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
सब्जियों की महंगाई से राहत नहीं, बरसात की वजह से बढ़े दाम 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

भारत, चीन ने 14 घंटों तक सीमा विवाद पर चर्चा की

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद सुलझाने के लिए मोल्डो में 14 घंटे लंबी कूटनीतिक-सैन्य वार्ता...
- Advertisement -

सेंसेक्स 350 अंक से ज्यादा टूटा, निफ्टी में 100 अंकों की गिरावट

मुंबई, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। घरेलू शेयर बाजार की शुरूआत मंगलवार को कमजोरी के साथ हुई। सेंसेक्स 350 अंकों से ज्यादा टूटा और निफ्टी में...

बॉलीवुड ड्रग एंगल ने सुशांत को न्याय दिलाने की बात भुला दी: गायक एरियन रोमल

मुंबई, 22 सितंबर (आईएएनएस)। डेनमार्क के गायक और उद्यमी एरियन रोमल ने दिवंगत अभिनेता सुशांत राजपूत को समर्पित एक ट्रिब्यूट सॉन्ग बनाया है। यह...

जानी मानी फिल्म और थिएटर कलाकार आशालता का कोरोना से निधन

मुंबई, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। प्रख्यात मराठी, हिंदी फिल्मों और रंगमंच की कलाकार आशालता वाबगांवकर का सतारा के एक निजी अस्पताल में कोविड-19 से...

Related news

प्रधान पिंकी चौधरी की अशोक को छोड़ नए प्रेमी के साथ भागने की अफवाह?

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति क्षेत्र से प्रधान पिंकी चौधरी के 1 महीने पहले अपने प्रेमी अशोक चौधरी के साथ भागने...

आईपीएल-13 : कोहली की बेंगलोर के सामने वार्नर की सनराइजर्स

दुबई, 21 सितंबर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में सोमवार को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर का सामना...

सचिन पायलट को फंसाने चले थे, अशोक गहलोत खुद आये लपेटे में

भोपाल/जयपुर। मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्य प्रदेश के पूर्व...

भारत में 18 से 24 वर्ष की 37% महिलाएं रखती हैं लंबे समय तक सैक्स सम्बंध

-भारत में 19% महिलाओं को स्मार्टफोन पर रहती हैं पार्टनर की तलाश, देश की 62% महिलाएं कर रहीं ये काम।
- Advertisement -