30 C
Jaipur
रविवार, जुलाई 5, 2020

कमजोर कारोबारी रुझानों के चलते 35000 के नीचे रहा सेंसेक्स, निफ्टी 10312 पर (राउंडअप)

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई, 29 जून (आईएएनएस)। विदेशी बाजारों से मिले कमजोर संकेतों से सोमवार को घरेलू बाजार में बिकवाली का दबाव बना रहा। कोरोना के कहर से देश का आर्थिक विकास मंद रहने की आशंकाओं से भी कारोबारी रुझान कमजोर रहा।
सेंसेक्स पिछले सत्र से 209.75 अंक यानी 0.60 फीसदी फिसलकर 34961.52 पर बंद हुआ। निफ्टी भी पिछले सत्र से 70.60 अंकों यानी 0.68 फीसदी की कमजोरी के साथ 10,312.40 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 244.32 अंक फिसलकर 34,926.95 पर खुला और दिनभर के कारोबार के दौरान 34,662.06 तक लुढ़का, जबकि ऊपरी स्तर 35032.36 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र के मुकाबले 71.05 अंकों की कमजोरी के साथ 10311.95 पर खुला और कारोबार के दौरान 10,223.60 तक लुढ़का, जबकि निफ्टी का ऊपरी स्तर 10337.95 रहा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक 184.72 अंकों यानी 1.39 फीसदी की गिरावट के साथ 13,073 पर बंद हुआ, जबकि स्मॉलकैप सूचकांक पिछले सत्र से 155.84 अंकों यानी 1.23 फीसदी की गिरावट के साथ 12,474.44 पर बंद हुआ।

बीएसई के 30 शेयरों में से नौ शेयरों में तेजी रही, जबकि 21 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। सबसे अधिक तेजी वाले पांच शेयरों में एचडीएफसी बैंक (1.97 फीसदी), युनीलीवर (1.30 फीसदी), कोटक बैंक (1.27 फीसदी), भारती एयरटेल (1.24 फीसदी) और आईटीसी (1.08 फीसदी) शामिल रहे।

सेंसेक्स के सबसे अधिक गिरावट वाले पांच शेयरों में एक्सिस बैंक (4.78 फीसदी), टेक महिंद्रा (3.47 फीसदी), एसबीआईएन (2.87 फीसदी), एलएंडटी (2.65 फीसदी) और इंडसइंड बैंक (2.50 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के 19 सेक्टरों में 17 में गिरावट रही, जबकि दो सेक्टरों के सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए। सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच सेक्टरों में रियल्टी (2.94 फीसदी), धातु (2.53 फीसदी), पूंजीगत वस्तुएं (2.34 फीसदी), इंडस्ट्रियल (1.89 फीसदी) और पॉवर (1.79 फीसदी) शामिल रहे। वहीं, टेलीकॉम (1.38 फीसदी) और एफएमसीजी (0.84 फीसदी) बढ़त के साथ बंद हुए।

बीएसई पर कुल 3168 शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 1252 शेयरों में तेजी रही, जबकि 1766 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं, 150 शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुए।

रेटिंग एजेंसी ने चालू वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक विकास दर में पांच फीसदी की गिरावट का अनुमान लगाया है। आर्थिक विकास दर कमजोर रहने के अनुमान का असर सोमवार को भारतीय शेयर बाजार पर दिखा।

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
कमजोर कारोबारी रुझानों के चलते 35000 के नीचे रहा सेंसेक्स, निफ्टी 10312 पर (राउंडअप) 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

देश में प्रतिदिन 2.50 लाख कोरोना जांच की क्षमता : अश्विनी चौबे

पटना, 4 जुलाई (आईएएनएस)। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने शनिवार कहा कि देशवासियों को कोरोनावायरस को लेकर घबराने...
- Advertisement -

यू-20 विश्व कप स्थलों का निरीक्षण करेगी फीफा

जकार्ता, 4 जुलाई (आईएएनएस)। फीफा का प्रतिनिधिमंडल सितंबर में अंडर-20 विश्व कप-2021 के मैच स्थलों के निरीक्षण के लिए इंडोनेशिया का दौरा करेगा।इंडोनेशिया फुटबाल...

आईओए अधिकारी ने कोषाध्यक्ष के खिलाफ जांच शुरू करने की मांग की

नई दिल्ली, 4 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के कार्यकारी सदस्य भोलानाथ सिंह ने राष्ट्रीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और खेल...

लोगों ने रेफरेंडम-2020 को खारिज कर दिया : पंजाब भाजपा नेता

चंडीगढ़, 4 जुलाई (आईएएनएस)। भाजपा के वरिष्ठ नेता विनीत जोशी ने कहा कि लोगों ने शनिवार को सिख फॉर जस्टिस के रेफरेंडम-2020 को खारिज...

Related news

3 माह से वेतन नहीं, सैंकड़ों कर्मचारियों की कोरोनाकाल में भूखे मरने की नौबत आई

-वेतन नहीं मिला तो कर्मचारी पहुंचे न्यायालय की शरणजयपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान भी काम कर रहे...

थानाधिकारी सुसाइड मामले में आरोपित की गईं राजस्थान के एक विधायक को मुख्यमंत्री से भी बड़ी सुरक्षा प्रदान की गई है

जयपुर पिछले दिनों चूरू में सादुलपुर थाना अधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई के सुसाइड मामले में विपक्षियों द्वारा जिस विधायक...

वसुंधरा से दूरियां, डॉ. सतीश पूनियां से नजदीकियां, आखिर क्या मंत्र है राठौड़ का?

जयपुर।राजस्थान विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष और पिछली वसुंधरा राजे सरकार में पंचायती राज मंत्री रहे चूरू के विधायक राजेंद्र सिंह राठौड़...

2 साल 2 माह के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को राजस्थान सरकार ने आधी रात क्यों हटाया?

जयपुर राजस्थान सरकार ने गुरुवार आधी रात राज्य की ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के...
- Advertisement -