19 C
Jaipur
बुधवार, नवम्बर 25, 2020

Tata-Mistry विवाद की सबसे बड़ी खबर: सुप्रीम कोर्ट में 2 दिसंबर को होगा खात्मा

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को Tata समूह के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में Cyrus Mistry की नियुक्ति से जुड़ी कानूनी लड़ाई के संबंध में सुनवाई की।

दिसंबर 2019 में राष्ट्रीय कंपनी कानून अपीलीय न्यायाधिकरण (NCLAT) ने मिस्त्री को कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में बहाल करने और नटराजन चंद्रशेखरन को कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने के आदेश को अवैध करार दिया था। शीर्ष अदालत ने 10 जनवरी को एनसीएलएटी के आदेश पर रोक लगा दी थी।

- Advertisement -Tata-Mistry विवाद की सबसे बड़ी खबर: सुप्रीम कोर्ट में 2 दिसंबर को होगा खात्मा 2

मिस्त्री का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता सी.ए. सुंदरम ने बुधवार को शीर्ष अदालत को सूचित किया कि उन्होंने हस्तक्षेप आवेदन (आईए) दायर किया है। सुंदरम ने कहा कि नया आईए केवल एक अतिरिक्त राहत चाहता है, क्योंकि पहले आईए में इसे कवर नहीं किया गया है।

न्यायमूर्ति ए.एस. बोपन्ना और वी. रामासुब्रमण्यम के साथ प्रधान न्यायाधीश एस.ए. बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने सुंदरम से कहा, आपने आईए दायर क्यों किया है। हम अंतिम सुनवाई के साथ आगे क्यों नहीं बढ़ेंगे?

पीठ ने उन्हें याद दिलाया कि इस मामले को आज अंतिम सुनवाई के लिए रखा गया है, फिर भी एक आईए दायर किया गया है।

प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि आप एक आईए दायर करते हैं, जिसमें उत्तर और दलीलों की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि अदालत ने मामले को अंतिम सुनवाई के लिए रखा है। मामले में एक संक्षिप्त सुनवाई के बाद, शीर्ष अदालत ने कहा, हम इसे अंतिम सुनवाई के लिए दो दिसंबर के लिए सूचीबद्ध करेंगे।

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने शापूरजी पालोनजी (एसपी) समूह और साइरस मिस्त्री को अगली सुनवाई तक टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड (टीएसपीएल) के शेयरों को गिरवी रखने या स्थानांतरित करने से रोक दिया है।

शीर्ष अदालत ने कहा था कि समूह को उन शेयरों पर आगे कार्रवाई नहीं करनी चाहिए जो उन्होंने पहले ही धन जुटाने के लिए गिरवी रखे हैं।

बता दें कि टाटा समूह और एसपी समूह के बीच इन शेयरों को लेकर पिछले एक साल से विवाद चल रहा है। मिस्त्री परिवार के एसपी समूह की टीएसपीएल में करीब 18 फीसदी हिस्सेदारी है और वो इस कंपनी का सबसे बड़ा माइनारिटी शेयर होल्डर है।

पालोनजी मिस्त्री के बेटे साइरस मिस्त्री को 2012 में रतन टाटा की जगह टाटा संस का चेयरमैन बनाया गया था, लेकिन चार साल बाद 2016 में उन्हें अचानक पद से हटा दिया गया था, तभी से उनका टाटा समूह के साथ विवाद चल रहा है।

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
Tata-Mistry विवाद की सबसे बड़ी खबर: सुप्रीम कोर्ट में 2 दिसंबर को होगा खात्मा 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आशादीप बिल्डर की ठगी के शिकार किंग्सकोर्ट निवासी लामबंद हुए

- RERA में ढेरों शिकायतें दर्ज, कुछ कंजूमर कोर्ट की शरण में - बिल्डर को बचाने में जुटे कई रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, एक ब्यूरोक्रेट ने...
- Advertisement -

क्या भाजपा के एजेंट हैं AIMIM मुखिया असदुद्दीन ओवैसी?

Jaipur. हैदराबाद के सांसद और AIMIM पार्टी के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी के द्वारा हाल ही में बिहार में 20 विधानसभा सीटों पर...

कांग्रेस नेता Ahamad Patel का रात 3:30 बजे निधन, 20 साल से सोनिया गांधी के करीबी रहे

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल आज बीती रात अलसुबह 3:30 बजे निधन (Ahmed Patel Passes Away) हो गया। पटेल...

केंद्र ने दिए 234.68 करोड़ रुपये की 7 कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों के लिए

New Delhi. केंद्र सरकार (pm modi govt) ने 234.68 करोड़ रुपये की लागत से सात कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों को मंजूरी दी है। यह जानकारी...

Related news

दीपिका ने शुरू कर दी फिल्म पठान की शूटिंग?

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने सोमवार को कथित तौर पर शाहरुख खान के साथ अपनी नई फिल्म पठान की शूटिंग शुरू कर दी...

Love jihaad के खिलाफ अध्यादेश और अयोध्या का हवाईअड्डा भगवान राम के नाम पर

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi adityanath) ने लव जिहाद (Love jihaad) के खिलाफ सख्ती करने का कानून बनाने का निर्णय लिया है। योगी कैबिनेट...

दुबई के शासक की राजकुमारी पत्नी के बॉडीगार्ड से संबंध, चुप रहने को दिए 12 करोड़

नई दिल्ली। दुबई (Dubai) के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की राजकुमारी पत्नी का अपने बॉडीगार्ड (Bodyguard) से रिश्ता था।...

आशादीप बिल्डर की ठगी के शिकार किंग्सकोर्ट निवासी लामबंद हुए

- RERA में ढेरों शिकायतें दर्ज, कुछ कंजूमर कोर्ट की शरण में - बिल्डर को बचाने में जुटे कई रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, एक ब्यूरोक्रेट ने...
- Advertisement -