32 C
Jaipur
मंगलवार, अक्टूबर 20, 2020

चीन की अवकाश अर्थव्यवस्था ने एक बार फिर दुनिया का ध्यान खींचा

- Advertisement -
- Advertisement -

बीजिंग, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीन में हर साल राष्ट्रीय दिवस की छुट्टियों के दौरान लाखों लोग सैर-सपाटे के लिए निकल पड़ते हैं, और इस साल भी जहां दुनिया के कई देश कोरोना वायरस महामारी से त्रस्त हैं, वहां चीन में भारी संख्या में लोग राष्ट्रीय दिवस और मध्य-शरद उत्सव की छुट्टियों के दौरान सैर-सपाटे के लिए बाहर निकले।
दरअसल, चीन में राष्ट्रीय दिवस और मध्य-शरद उत्सव की छुट्टियों, जिन्हें गोल्डन वीक भी कहा जाता है, को सबसे व्यस्त समय माना जाता है। इस साल गोल्डन वीक के दौरान, चीन की घरेलू खपत में तेजी से वृद्धि हुई। इन छुट्टियों के दौरान रात्रि अर्थव्यवस्था और ऑनलाइन अर्थव्यवस्था नए आकर्षण बन गए।

चीनी संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय के डेटा केंद्र के अनुसार, करीब आठ दिनों की छुट्टियों के दौरान चीन का पर्यटन राजस्व 466.6 अरब युआन तक पहुंच गया, यानी कि पिछले साल की तुलना में 69.9 प्रतिशत अधिक है।

चीन की एक वित्तीय सेवा निगम यूनियनपे के अनुसार, छुट्टियों के पहले सात दिनों में ऑनलाइन लेनदेन में लगभग 2.2 खरब युआन खर्च किए गए। यकीनन, पर्यटन उद्योग सहित विभिन्न उद्योगों की त्वरित रिकवरी ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए आत्मविश्वास की लौ जगायी है।

ऐसे समय में, जब दुनिया भर में कोरोनावायरस महामारी फैल रही है, और विश्व अर्थव्यवस्था की हालत अभी भी खस्ता है, और स्पेन, ब्रिटेन जैसे देश कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में एक बार फिर लॉकडाउन लागू कर रहे हैं, तब चीन में आठ दिनों की छुट्टियों के दौरान रिकवरी और विकास में देश की उपलब्धियों को देखा गया।

कुछ विदेशी मीडिया ने तो महामारी को नियंत्रण में रखने, अर्थव्यवस्था को बहाल करने और जनता को आश्वस्त करने के लिए चीन की आर्थिक सुधार की प्रशंसा की है। जाहिर है, ये उपलब्धियां महामारी को नियंत्रित करने के चीन के प्रयासों से अविभाज्य हैं, और सामाजिक अर्थव्यवस्था की स्थिर और व्यवस्थित रिकवरी के लिए एक अच्छी शुरूआत है।

इन छुट्टियों के दौरान 60 करोड़ से अधिक यात्राएं हुईं, जो देश भर में निरंतर प्रयासों की तरफ इशारा करते हैं। चीन में महामारी से लड़ने से लेकर इसे नियंत्रण में लाने तक, और उत्पादन व वाणिज्य को बहाल करने से लेकर उपभोग और आर्थिक सुधार में रिकवरी करने तक, देश की नीतिगत गारंटी और जनता की व्यापक भागीदारी के बगैर इन उपलब्धियों को हासिल कर पाना बेहद मुश्किल है।

चीन की अवकाश अर्थव्यवस्था जीवन शक्ति से भरा हुआ है। आर्थिक और सामाजिक विकास के साथ महामारी की रोकथाम और नियंत्रण के समन्वय में देश की क्षमता स्पष्ट नजर आती है। इसने अवश्य ही चीन के आगे विकास और विश्व आर्थिक सुधार के अवसरों को खोलने में भी मदद की है।

(अखिल पाराशर, चाइना मीडिया ग्रुप, बीजिंग)

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
चीन की अवकाश अर्थव्यवस्था ने एक बार फिर दुनिया का ध्यान खींचा 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आईपीएल-13 : तीन बदलाव के साथ दिल्ली का बैटिंग का फैसला (लीड-1)

दुबई, 20 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली कैपिटल्स ने मंगलवार को यहां दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेले जा रहे इंडियन...
- Advertisement -

गुरुग्राम : पुलिस अधिकारी पर गोली चलाने वाला गिरफ्तार

गुरुग्राम, 20 अक्टूबर (आईएएनएस)। गुरुग्राम पुलिस ने मंगलवार को कुख्यात अपराधी सोमबीर को गिरफ्तार कर लिया है। सोमबीर सितंबर में शहर के पालम विहार...

शहजाद खान ने कहा, डाॅ. सतीश पूनियां के नेतृत्व में भाजपा के लिये करेंगे काम

-जयपुर नगर निगम चुनाव में कांग्रेस को बड़ा झटका, आमेर शहर अध्यक्ष शहजाद खान भाजपा में शामिल जयपुर। जयपुर...

एसी के आयात पर प्रतिबंध उद्योग के लिए विघटनकारी साबित हो सकता है : विशेषज्ञ

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत सरकार ने हाल ही में घरेलू उद्योग को बढ़ावा देने और आयात निर्भरता को कम करने के लिए...

Related news

भाजपा के संगठन ने दिखाई ताकत, 30% में सिमट गए विधायक

- कई वर्षों बाद भारतीय जनता पार्टी संगठन के द्वारा इतने बड़े पैमाने पर टिकट बांटे गए हैं। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद...

मिशन शक्ति अभियान को लेकर नोएडा पुलिस कर रही काम, जागरूकता वैन को दिखाई हरी झंडी

नोएडा, 18 अक्टूबर (आईएएनएस)। मिशन शक्ति अभियान को लेकर नोएडा पुलिस भी काम कर रही है। रविवार को नोएडा के कमिश्नर ऑफिस में मिशन...

दुनियाभर में कोरोना मामलों की संख्या 4.03 करोड़ के पार : जॉन्स हॉपकिन्स

वाशिंगटन, 20 अक्टूबर (आईएएनएस)। दुनियाभर में कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या बढ़कर 4.03 करोड़ के पार पहुंच गई है, जबकि इस बीमारी से...

उप्र में विधवा पेंशन का लाभ उठा रही विवाहिता और मृत महिलाएं

बदायूं (उत्तर प्रदेश), 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में विधवाओं के लिए योजना में धोखाधड़ी के 106 से अधिक मामले सामने...
- Advertisement -