नागौर।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के संयोजक और एनडीए (NDA) के नागौर संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हनुमान बेनीवाल को बहुजन समाज पार्टी (BSP) का समर्थन हासिल हो सकता है।

बसपा ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए अपने कार्यकर्ताओं और वोटर से अपील की है कि नागौर में कांग्रेसी उम्मीदवार ज्योति मिर्धा को हराने के लिए वोट करें।
नागौर में हनुमान बेनीवाल को मिलेगा बसपा का समर्थन, BSP प्रदेश सरकार से वापस लेगी समर्थन 1

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने ट्वीट कर कहा है कि नागौर में बसपा के उम्मीदवार को डरा, धमका कर जिस तरह से कांग्रेस ने ज्योति मिर्धा के पक्ष में बैठने पर विवश किया है, उससे साफ है कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार भी भारतीय जनता पार्टी से अलग नहीं है।

मायावती ने आह्वान किया है कि कांग्रेसी उम्मीदवार ज्योति मिर्धा को हराएं। साथ ही साथ यह भी कहा है कि प्रदेश कांग्रेस सरकार को बसपा के 7 विधायकों ने जो समर्थन दे रखा है, उसको भी वापस लेने पर विचार किया जाएगा।

बसपा के प्रदेश अध्यक्ष सीताराम मेघवाल ने एक अपील पत्र जारी करते हुए कहा है कि कांग्रेस ने धन, डर और बाहुबल के आधार पर उनके उम्मीदवार मुस्ताक को बैठने के लिए और कांग्रेस के समर्थन में नामा नाम वापस लेने के लिए विवश किया है, जिसका कांग्रेस को लोकसभा चुनाव परिणाम में खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
नागौर में हनुमान बेनीवाल को मिलेगा बसपा का समर्थन, BSP प्रदेश सरकार से वापस लेगी समर्थन 2

सीताराम मेघवाल के पत्र में में इस बात का भी हवाला दिया गया है की नागौर में कांग्रेस प्रत्याशी को हराने के लिए सभी बसपा के कार्यकर्ता और वोटर्स ज्योति मिर्धा के खिलाफ वोट करेंगे।

बसपा के इस अपील पत्र के बाद एनडीए के उम्मीदवार और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल के समर्थकों में खुशी की लहर माना जा रहा है कि ज्योति मिर्धा को हराने के लिए बसपा के समर्थक और वोटर्स हनुमान बेनीवाल के पक्ष में वोट करेंगे।