BJP ने घोषित किए 131 टिकट, वसुंधरा और संघ रहे हावी, पहली सूची में कटे 26 नाम-

12
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर/नई दिल्ली।

भारतीय जनता पार्टी ने 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर 131 योद्धा देर रात मैदान में उतार दिया हैं।

पार्टी की पहली सूची में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और आरएसएस की भूमिका को तहरीर दी गई है। पहली सूची में 25 नए चेहरे शामिल किए गए हैं इनमें 12 महिलाएं है।

साथ ही साथ 36 sc-st के कैंडिडेट भी टिकट पाने में कामयाब रहे हैं। देर रात तक मोदी और अमित शाह की मंथन के बाद पार्टी ने 11:15 131 प्रत्याशियों की सूची घोषित कर दी।

बीजेपी की पहली सूची में पार्टी ने एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया। पार्टी ने तीन मौजूदा मंत्रियों के टिकट काटे हैं। जिनमें कैबिनेट मंत्री नंदलाल मीणा, सुरेंद्र गोयल और कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त सुरेंद्र काका को टिकट नहीं दिया गया है।

पार्टी की पहली सूची में राजेंद्र भादू, द्रोपती देवी, सुंदर लाल काका, बनवारी सिंगल, बच्चू सिंह, कुंजी लाल मीणा, भागीरथ चौधरी, सुखराम, सुरेंद्र गोयल, संजना आगरी, कैलाश भंसाली, हबीबुर्रहमान, अमृता मेघवाल, गौतम कुमार, कंवरलाल मीणा, चंद्रकांता मेघवाल, बालूराम जाट, नंदलाल मीणा, नवनीत निनामा, अनिता कटारा, देवेंद्र कटारा, दल्ली चंद डांगी, शंकर सिंह राजपुरोहित को टिकट नहीं दिया गया है।

कांग्रेस पर लगातार वंशवाद को लेकर हमला करने वाली बीजेपी ने 11 से चेहरे उतारे हैं, जो किसी न किसी नेता के बेटे, बेटी या बहू है।

पार्टी में इनमें से कुछ पुराने दिग्गज नेताओं के बच्चे हैं। साथ ही मौजूदा विधायकों के टिकट काटकर उनके परिवार के बेटे, भतीजे को दिया गया है।

वर्तमान विधायक सुंदरलाल के बेटे कैलाश मेघवाल, नंदलाल मीणा के बेटे हेमंत, कैलाश भंसाली के भतीजे अतुल और गुरजंट सिंह के बेटे गुरवीर सिंह बराड़ शामिल हैं।

साथ ही जाट नेता सांवरलाल के बेटे रामस्वरूप लांबा, धर्मपाल चौधरी के बेटे मनजीत, दिगंबर सिंह के बेटे शैलेंद्र सिंह को भी टिकट दिया गया है।

पूर्व विधायक देवी सिंह भाटी की बहू पूनम कंवर, भेरूलाल के पोते गोविंद प्रसाद के पुत्र राम विलास और कुंजी लाल मीणा के बेटे राजेंद्र मीणा को टिकट दिया गया है।

पार्टी ने अपनी सूची में बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम को मानवेंद्र सिंह की जगह मैदान में उतारा है। पूर्व मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

इसकी वजह से पार्टी के पास यह सीट मौजूद थी। जाट और राजपूत मतदाताओं के मध्यनजर यहां पर सोनाराम को उतारकर पार्टी ने उन पर दांव खेला है।

बीजेपी ने अपने मंत्री कालीचरण सराफ, धन सिंह रावत, हेमसिंह भड़ाना, शत्रुघ्न गौतम, मदन राठौड़, सुरेंद्र पाल टीटी, राजपाल सिंह शेखावत, यूनुस खान, जसवंत यादव, शत्रुघ्न गौतम जैसे मंत्रियों को अभी टिकट नहीं दिया है।

मौजूदा मंत्रियों में खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के अलावा प्रभु लाल सैनी, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश चंद्र मेघवाल, कालू लाल गुर्जर, किरण माहेश्वरी, श्री चंद कृपलानी, सुशील कटारा, गुलाब चंद कटारिया, ओटाराम देवासी, अमराराम चौधरी, पुष्पेंद्र सिंह राणावत, अनिता भदेल, वासुदेव देवनानी, कृष्णेंद्र कौर दीपा, अरुण चतुर्वेदी, बंशीधर खंडेला, राजेंद्र सिंह राठौड़ और डॉ रामप्रताप को टिकट दिया गया है।

खबरों के लिए फेसबुक, ट्वीटर और यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। खबर पसन्द आए तो शेयर करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।