जयपुर।

राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से सरकार बना रही है और वह भी पूर्ण बहुमत के साथ। यह कहना है निवर्तमान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का। उन्होंने दावा किया है कि राजस्थान में हम एक बार फिर से सत्ता में लौट रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आज आयोजित हुई कोर कमेटी की बैठक के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पत्रकारों के सामने इस बात का दावा किया कि राजस्थान में एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी बहुमत के साथ सरकार बना रही है।

हालांकि, कोर कमेटी के सूत्रों का कहना है कि बैठक में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत में नहीं आने के बाद अन्य सभी विकल्पों के बारे में बातचीत की, जिनमें राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल को साथ लेकर चलने पर भी चर्चा हुई है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पत्रकारों के साथ बात करते हुए कहा कि राजस्थान में विकास के जो आयाम हमनें स्थापित किया है, और केंद्र सरकार का जो सहयोग रहा है। राजस्थान की जनता के लिए जन हितेषी योजनाओं पर काम किया है, उसके आधार पर हम दावे के साथ कह सकते हैं कि एक बार फिर से हम सत्ता में वापसी कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि भारतीय जनता पार्टी की तरफ से रविवार को लगातार दूसरे दिन भी कोर कमेटी की बैठक में आगामी चुनाव परिणाम को लेकर गहन विचार विमर्श किया गया है।

हालांकि, कोर कमेटी में हुई बातचीत का ब्यौरा नहीं दिया गया है। लेकिन सूत्रों का दावा है की राजस्थान में तीसरे मोर्चे और निर्दलीय को साथ लेकर भी भारतीय जनता पार्टी सरकार बनाने में हिचकीचाएगी नहीं।

बैठक के बाद मीडिया से वार्ता के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि वसुंधरा राजे जी के नेतृत्व में भाजपा पुनः सरकार बना रही है। हम पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएंगे इसमें कोई किन्तु परन्तु नहीं है।

चुनाव कमान संभालने वाले गजेंद्र सिंह शेखावत जी ने पूर्ण विश्वास के साथ पत्रकार साथियों को कहा कि सर्वे को छोड़े भाजपा पुनः सत्ता में आ रही है और पूर्ण बहुमत के साथ आ रही है।

प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने मीडिया से कहा कि हम एग्जिट पोल का सम्मान करते हैं पर इन आंकड़ों पर विश्वास नहीं रखते, हम पोलिंग बूथ पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं पर ज्यादा विश्वास करते हैं और हम पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि भाजपा आ रही है और तेजी से आ रही है। सभी कार्यकर्ता को कहा गया है कि काउंटिंग वाले दिन किसी भी तरह की काउंटिंग में गड़बड़ी या चूक नहीं हो सके इस विषय पर बूथ कार्यकर्ताओं को ध्यान रखने की जरूरत है।