जयपुर।

दो दिन बाद होने वाली मतगणना में संभावित परिणाम को देखते हुए भाजपा उच्च स्तरीय बैठक में जुटी हुई है। पार्टी में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, अध्यक्ष मदनलाल सैनी, कई केंद्रीय मंत्री समेत भाजपा की कोर कमेटी ने आज दूसरे दिन भी अहम बैठक की।

इस बीच एक ओर जहां जोड़तोड़ से सरकार बनाने के लिए जरूरी कवायद पर चर्चा हुई, वहीं बहुमत नहीं मिलने की स्थिति से निपटने के लिए मुख्यमंत्री का चेहरा बदलकर गठबंधन करने पर भी विचार किया गया।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी किसी भी हालत में सत्ता से बेदखल नहीं होना चाहती है, इसलिए उन तमाम विकल्पों पर बात की गई है, जिनके होने से सरकार दुबारा बनाई जा सके।

इससे पहले शनिवार को भी परिणाम से पहले की तैयारियों को लेकर बैठक हुई है। आज की बैठक के बाद खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सारा फीडबैक दिया बताया है।

सूत्रों की मानें तो बहुमत से दूर रहने पर निर्दलीयों, बसपा और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के मुखिया हनुमान बेनीवाल को साथ लेकर भी सरकार बनाने पर गहनता से विचार किया जा रहा है।

इस बीच पार्टी सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि खुद हनुमान बेनीवाल से बात की गई है। गौरतलब है कि राज्य में सियासी घटनाक्रम पर नज़र बनाये रखने वाले लोगों का कहना है कि किसी भी सूरत में दोनों ही पार्टियों को बहुमत नहीं मिल रहा है।

भाजपा को अब भी बहुमत में आने की पूरी संभावना लग रही है, जिसके चलते पार्टी में दूसरे विधायकों को भी कॉन्टेस्ट किया गया है, जो संभावित लग रहे हैं। पार्टी के टिकट नहीं देने पर बागी होकर चुनाव लड़ रहे भाजपाइयों से भी संपर्क किया गया है।