जयपुर।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा राफेल मामले केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को राहत मिलने के बाद भारतीय जनता पार्टी पूरे देशभर में आक्रामक हो गई है। पार्टी की तरफ से आज राजस्थान के प्रत्येक जिले में बड़े पैमाने पर धरने-प्रदर्शन किए गए।

पार्टी का कहना है कि देश की सुरक्षा को ताक में रखकर राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा बेबुनियाद, तथ्यहीन आरोपों के खिलाफ आज भारतीय जनता पार्टी की जयपुर शहर और देहात इकाई द्वारा कलेक्ट्रेट सर्किल पर विशाल प्रदर्शन किया।

भाजपा द्वारा पूरे प्रदेश में इस तरह के प्रदर्शन हुए हैं। जयपुर में कलेक्ट्रेट सर्किल पर प्रदर्शन में सैकड़ों युवा कार्यकर्ताओं ने इसमें भाग लिया। जयपुर भाजयुमो के युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष अंकित चेची ने बताया कि इसके जरिये राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द करने को लेकर राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा गया है।

देश की अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर साख गिराने वाले राहुल गांधी देश से माफी मांगे 1

इसी तरह के प्रदर्शन राजस्थान के प्रत्येक जिले में भारतीय जनता पार्टी और भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए हैं।

जयपुर, उदयपुर, बीकानेर, कोटा और भरतपुर संभाग में जहां भाजपा के आला नेताओं ने धरने प्रदर्शन में भाग लिया, वहीं सभी जिला मुख्यालयों पर पार्टी के विधायकों और जिला अध्यक्ष होने इस धरने प्रदर्शन की अगुवाई की।

गौरतलब है कि करीब 6 महीने से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी कि केंद्र वाली सरकार पर राफेल मामले में घोटाला करने का आरोप लगाया जाता रहा है।

इस प्रकरण में कई याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई। जिनको सुप्रीम कोर्ट ने यह कहते हुए खारिज कर दिया की खरीद की प्रक्रिया, राफेल विमान की कीमत और ऑफसेट मामले में केंद्र की सरकार का कोई दखल नहीं है, जिसके चलते आगे जांच की गुंजाइश नहीं है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भारतीय जनता पार्टी ने पूरे देश में आक्रामकता अपनाते हुए कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से देश, सेना और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ईमानदार बताते हुए माफी मांगने को कहा है।