कालीचरण सराफ, राजपाल सिंह शेखावत पर इसलिए तो नहीं है असमंजश?

4
nationaldunia.com
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

-सराफ के मंत्री रहते बेटे पर लगे थे भ्रष्टाचार के आरोप, तो शेखावत के द्वारा कार्यकर्ताओं को तवज्जो नहीं देने की है शिकायतें

जयपुर।

चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ और उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत जयपुर से विधायक हैं।

दोनों ही नेता कैबिनेट में सबसे मजबूत मंत्रियों में आते हैं, लेकिन इसके बावजूद भाजपा द्वारा घोषित पहली सूची में उनका नाम नहीं होने के कारण कई सवाल खड़े कर रहा है।

शहर की 7 सीटों में से सिविल लाइन, विद्याधर नगर, किशनपोल, हवामहल, आदर्श नगर, आमेर सीट पर टिकट घोषित कर दिया गया है, लेकिन मालवीय नगर, झोटवाड़ा और बगरू सीट पर टिकट पहली लिस्ट में जारी नहीं किया गया है।

सांगानेर सीट पर भाजपा को नया चेहरा उतारना है। यहां से बीजेपी उम्मीदवार घनश्याम तिवाड़ी पार्टी छोड़ चुके हैं।

भाजपा कार्यालय में आज सुबह से ही इस बात की चर्चा है कि शायद कालीचरण सराफ को उनके बेटे विवेक सराफ का नाम भ्रष्टाचार में सामने आने के बाद रोक दिया गया है।

हालांकि, उनके कार्यकर्ता पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि सराफ को टिकट मिलेगा। इधर, राजपाल सिंह शेखावत पर भी बीजेपी कार्यकर्ता रुखे व्यवहार के कारण परेशान बताए जाते हैं।

जबकि शेखावत का पहली सूची में नाम नहीं है। बगरू सीट पर कैलाश वर्मा के खिलाफ तगड़ा माहोल है। ऐसे में उनका टिकट घोषित नहीं करना नकारात्मक संदेश दे रहा है।

बगावती रहने के बावजूद नरपत सिंह राजवी को टिकट दिया गया है। चार दिन पहले ही यहां के बूथ अध्यक्षों, महासचिवों और शक्ति केंद्रों के प्रमुखों ने टिकट नहीं देने के लिए वसुंधरा राजे को पत्र लिखा था।

माना जा रहा है कि राजपूत समुदाय की नाराजगी को देखते हुए उनको टिकट दिया गया है। हवामहल से सुरेंद्र पारीक को संघ का वदहस्त होने का फायदा मिला है।

यही हाल किशनपोल सीट पर है। यहां पर मोहन लाल गुप्ता को टिकट देकर संघ को नाराज नहीं करने का जोखिम उठाने की स्थिति में पार्टी नजर नहीं आ रही है।

भारतीय जनता पार्टी ने जयपुर जिले की 19 में से 9 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित नहीं किए हैं। संभावना है की दूसरी और अंतिम सूची में यहां अपने उम्मीदवार उतारे जा सकते हैं।

खबरों के लिए फेसबुक, ट्वीटर और यू ट्यूब पर हमें फॉलो करें। खबर पसन्द आए तो शेयर करें। सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमें paytm N. 9828999333 पर अर्थिक मदद भी कर सकते हैं।