जयपुर।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कल जयपुर में होने वाली सभा को लेकर एक ओर जहां पार्टी की तैयारियां तेज़ी से चल रही हैं।

दूसरी ओर बीजेपी द्वारा हमले तेज कर दिए गए हैं। कांग्रेस अध्यक्ष की लोकसभा चुनाव को लेकर पहली रैली है, जबकि भाजपा ने विधानसभा चुनाव से पहले किए गए वादों को लेकर सवाल दागे हैं।

पार्टी ने कहा है कि पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी किसान कर्जमाफी, बेरोजगारी भत्ता, किसानों की मौत, बिजली, पानी, रोजगार जैसे मुद्दों को उठाया है।

बीजेपी ने कहा है कि अच्छी बात है कि कांग्रेस अध्यक्ष जयपुर रैली करने या रहे हैं, लेकिन पहले इन सवालों का जवाब तलाशकर आएं।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा राजस्थान में किसानों का संपूर्ण कर्जा माफ करने का वादा किया था।

उन्होंने कहा था कि अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो राजस्थान के सभी किसानों का पूरा कर्ज केवल 10 दिन के भीतर माफ कर दिया जाएगा, लेकिन वादे के मुताबिक काम नहीं होकर अब तक केवल ₹1500 करोड़ का कर्जा माफ किया गया है।

साथ ही साथ बीजेपी ने आरोप लगाया है कि जिन किसानों का पिछले वसुंधरा राजे सरकार में कर्ज माफ किया जा चुका है, उनको भी कर्ज माफी प्रमाण पत्र दिए गए।

इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी ने कड़ी आपत्ति जताई है और राहुल गांधी से जवाब मांगे। साथ ही उन्होंने बेरोजगारों को ₹3500 महीना भत्ता दिए जाने को लेकर भी सवाल पूछा है।

बीजेपी के नेता अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि प्रदेश में 33 लाख बेरोजगार युवा हैं, लेकिन राजस्थान की सरकार ने केवल एक लाख युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने के लिए चिन्हित किया है, उनमें से भी कोई मापदंड में लिया गया है।

ऐसे में राहुल गांधी इसका भी जवाब दें। प्रदेश में सरकार बनने से पहले कांग्रेस ने वादा किया था कि राजस्थान में दलितों पर अत्याचार बंद हो जाएंगे, किसानों की आत्महत्या बंद हो जाएगी, बीमारियां खत्म हो जाएगी।

लेकिन केवल 90 दिन की सरकार में ही अब तक स्वाइन फ्लू से 200 से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है, पहली बार ऐसा है कि रात में पिलाई करते हुए एक किसान की मौत हो गई, जबकि किसानों को दिन में बिजली दी होती तो ऐसा नहीं होता।