जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के फायर ब्रांड राजनेता और अलवर के रामगढ़ विधानसभा सीट से निवर्तमान विधायक ज्ञानदेव आहूजा को पार्टी ने इनाम दिया है।

भारतीय जनता पार्टी ने आज उनको प्रदेश उपाध्यक्ष पद पर पदोन्नत किया है। इसके साथ ही जयपुर जिले के ग्रामीण अध्यक्ष डीडी कुमावत को पार्टी ने दंडित करते हुए अध्यक्ष पद से हटा दिया।

डीडी कुमावत ने बागी होकर फुलेरा विधानसभा सीट से निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल किया था। डीडी कुमावत ने निर्दलीय उम्मीदवार बनकर नामांकन पत्र दाखिल किया है।

प्रदेश में टिकट वितरण से खफा भाजपा नेताओं ने बागी होकर चुनावी ताल ठोक दी है। दो दिनों तक उच्च नेताओं के माध्यम से चली समझाइश के बाद भाजपा के तीन विधायकों ने अपने नामांकन वापिस ले लिए लेकिन अभी भी आधा दर्जन से अधिक भाजपा नेता चुनावी मैदान में डटे हुए हैं।

माना जा रहा है कि सभी नेताओं से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित पार्टी नेताओं ने बात कर मनाने का प्रयास किया किन्तु कोई भी टस से मस नहीं हुआ और चुनाव मैदान में डटने की घोषणा कर दी।

गुरूवार को नामांकन वापसी का अंतिम दिन होने के कारण सभी नेता बागियों की समझाइश में जुटे रहे लेकिन नतीजा सिफर ही रहा।

सूत्रों का कहना है कि बागियों को मनाने के लिए पार्टी नेताओं ने उन्हें विभिन्न प्रलोभन भी दिए लेकिन कार्यकर्ताओं के दबाव के आगे वे नहीं झुक पाए।

प्रलोभनों में किसी को सरकार बनते ही आयोग या बोर्ड का अध्यक्ष बनाने, किसी को सांसद का चुनाव लडाने में मदद करने और कई नेताओं को भविष्य में कहीं भी एडजस्ट करने के आफर भी दिए गए।

इस दौरान इन नेताओं के पिछले कार्यकाल और पार्टी की ओर से उनके लिए किए गए कार्य भी याद दिलाए गए।

सीएम से वार्ता और पार्टी नेताओं की समझाइश के बाद कोटा के लाडपुरा से भवानी सिंह राजावत, जयपुर के सांगानेर से ज्ञान देव आहुजा और टोंक के मालपुरा से अल्का सिंह गुर्जर ने अपना नामांकन वापस ले लिया।

बागी मंत्रियों में पीएचईडी मिनिस्टर सुरेन्द्र गोयल, जीएडी मंत्री हेमसिंह भडाना, राज्यमंत्री धनसिंह रावत और देवस्थान मंत्री राजकुमार रिणवां ने अपना नामांकन वापिस नहीं लिया है।

संसदीय सचिव ओमप्रकाश हुडला, किसनाराम नाई श्रीडूंगरगढ, अनिता कटारा सागवाडा, देवेन्द्र कटारा डूंगरपुर, नवनीतलाल निनामा घाटोल और गीता वर्मा सीकराय से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में डटी हुई है।

इसके अलावा पूर्व मंत्री राधेश्याम गंगानगर गंगानगर से, पार्टी पदाधिकारियों में पूर्व प्रदेश मंत्री कुलदीप धनखड विराटनगर, देहात जिलाध्यक्ष डीडी कुमावत फुलेरा से मैदान में हैं।

प्रदेश भाजपा ने विधानसभा चुनावों के लिए टिकट से महरूम रहे नेताओं को संगठन में जगह देना शुरू कर दिया है साथ ही बागी होकर चुनाव लड रहे नेताओं पर कार्रवाई भी शुरू कर दी है।

इस कडी में सांगानेर से निर्दलीय चुनाव लडने की घोषणा करने और समझाइश से शांत हुए विधायक ज्ञानदेव आहूजा को प्रदेश उपाध्यक्ष बनाकर संगठन में जगह दी है।

इसके लिए प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने गुरूवार शाम को आहूजा को भाजपा कार्यालय बुलाया और उनसे वार्ता कर उन्हें संगठन में पद दिया।

इसके अलावा बागी होकर फुलेरा से चुनाव लड रहे जयपुर देहात अध्यक्ष दीनदयाल कुमावत को हटाकर उनके स्थान पर रामानंद गुर्जर, खींवसर से पार्टी के प्रत्याशी बनने पर नागौर जिलाध्यक्ष रामचन्द्र उता के स्थान पर रमाकांत शर्मा को नियुक्त किया गया है।

साथ ही अशोक चण्डालिया को उदयपुर शहर जिला संगठन प्रभारी, अभयशंकर शर्मा को जयपुर देहात संगठन प्रभारी तथा मेघराज लोहिया को जोधपुर देहात का संगठन प्रभारी बनाया गया है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।