New delhi

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल रेल मंत्रालय में बड़ा बदलाव करने जा रहे हैं अब तक जिन यात्रियों को जनरल डिब्बे में सीट नहीं मिलने की शिकायत थी, जल्द ही वह दूर कर दी जाएगी।

यहां पर क्लिक करके देखिए स्पेशल वीडियोस

पियूष गोयल ने कहा है कि रेल मंत्रालय डिब्बे के यात्रियों के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम लेकर आ रहा है।

इस नए सिस्टम के जरिए रेल यात्रियों को जनरल डिब्बे में भी सीट आवंटित होगी। अब तक केवल रिजर्व सीट के लिए ही टोकन आवंटित किया जाता रहा है

बायोमेट्रिक मशीन में फिंगर स्क्रीन करने के बाद यात्री को टोकन मिलेगा, उस टोकन पर सीट का नंबर होगा रेल का आरपीएफ स्टाफ जनरल डिब्बे के गेट पर ही टोकन धारी यात्री को जांच करने के बाद ट्रेन में चढ़ने देगा।

रेल मंत्रालय की इस नई व्यवस्था को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर मुंबई रेलवे स्टेशन और बांद्रा टर्मिनल्स के बीच लॉन्च कर दिया गया है।

भारतीय रेलवे को उम्मीद है कि इस नई व्यवस्था से रेलवे प्लेटफार्म पर नाचने वाली भगदड़ नहीं होगी। इस प्रोजेक्ट को मुंबई के बाद गुजरात के अहमदाबाद और सूरत रेलवे स्टेशन पर भी मशीन लगाकर शुरू कर दिया जाएगा।

इस योजना को जल्द से जल्द पूरे देश में लागू करने का कार्यक्रम तेजी से किया जा रहा है।

आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी की 2014 से 2019 वाली पहली सरकार में रेल मंत्रालय का अलग से बजट बंद कर दिया गया है।

इसके साथ ही इन 5 वर्षों में रेल मंत्रालय ने कोई भी नया ट्रैक शुरू करने की घोषणा नहीं की है, बल्कि जो गाड़ियां पूर्व में घोषित की जा चुकी है।

उनको ही दुरुस्त करने का काम किया जा रहा है और रेलवे को मजबूत, सुरक्षित व फायदे का सौदा बनाने के लिए सरकार काम कर रही है।