सपना सुहासा@जयपुर।

राजस्थान में पिछले 5 दिनों से जारी गुर्जर आरक्षण आंदोलन को लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल के सरकार पर बनाया गया दबाव प्रयास रंग लाने लगा है।

कल ही सदन में बेनीवाल ने शून्यकाल में पर्ची के माध्यम से सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा था कि गुर्जर भाइयों में मांग जायज है और जाट समाज इसका फुल समर्थन करता है।

चेतावनी देते हुए बेनीवाल ने यह भी कहा था कि सरकार ने अगर गुर्जर आरक्षण को लागू नहीं किया तो जाट समाज भी आंदोलन करने पर मजबूर होगा।

उन्होंने सदन के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आरक्षण सभी पिछड़े वर्गों को मिलना चाहिए। बेनीवाल ने गुजरात के पटेल, महाराष्ट्र के मराठा और हरियाणा के जाट आरक्षण आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा कि इनको आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए।

बेनीवाल ने कहा था कि जिस तरह से गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण का लाभ दिया गया है, ठीक वैसे ही कानून बनाकर 3 राज्यों में बहुल गुर्जर समाज को भी 5% आरक्षण मिलना चाहिए।

बेनीवाल के रौद्र रूप के कारण सरकार ने देर रात और आज सुबह लंबी मीटिंग कर यह तय किया है कि विधानसभा में 5% आरक्षण का प्रस्ताव पास कर केंद्र सरकार के पास कानून बनाने के लिए भेजा जाएगा।

ये भी पढ़िये :-

Leave a Reply