जयपुर।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने बड़ी हुंकार भरते हुए का है कि राजस्थान में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की वसुंधरा राजे और कांग्रेस के अशोक गहलोत के खिलाफ प्रदेश की जवान और किसानों को एक करने का काम किया है।

बेनीवाल ने दावा किया है कि वह आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रदेश के सभी 25 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे, और इसके साथ ही अगली हूं कार दिल्ली में भरने जा रहे हैं।

लगातार तीसरी बार विधायक निर्वाचित हुए हनुमान बेनीवाल ने पबयान जारी कर कहा कि आगामी लोकसभा के चुनाव में पार्टी सभी 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि जनता के जनादेश को हम स्वीकार करते हैं, क्योंकि लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनता ही सर्वोपरी है।

बेनीवाल ने कहा कि मात्र एक माह से भी कम अवधि में पार्टी गठित करके 3 सीट पर जीत प्राप्त की, जबकि 2 सीटो पर द्वितीय स्थान पर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 2.34 प्रतिशत मत प्राप्त किए हैं। रालोपा ने प्रदेश की 57 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे और 8 लाख से अधिक वोट पाकर पार्टी ने 2.34 प्रतिशत से अधिक वोट प्राप्त किये।

रालोपा जहां बाड़मेर की शिव सीट पर 50252 मत लिए, बाड़मेर की बायतु से 43900, नागौर की जायल से 49265 मतों के साथ द्वितीय स्थान पर रही। वहीं भीलवाड़ा की आसींद से 41961, चौमू से 38865, बिलाड़ा से 37265, लूणी से 30497, सीकर और कोटपूतली से 28 हजार से अधिक, कपासन से 27 हजार के अलावा नीम का थाना से 25 हजार से अधिक मतप्राप्त किये।

हनुमान बेनीवाल ने वीडियो बयान जारी कहा कि गहलोत 10 साल तक राज्य के मूख्यमंत्री रहे और उनकी रीति-नीति में किसान के विकास की बात कहीं नहीं थी।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि किसान कभी नही चाहता कि अशोक गहलोत मूख्यमंत्री बने, जो जनादेश राजस्थान में कांग्रेस को मिला है, वो वसुंधरा और गहलोत के खिलाफ मिला है। क्योंकि इनकी जुगलबंदी से राजस्थान को नुकसान हुआ।

बेनीवाल ने रालोपा के नवनिर्वाचित विधायक इंदिरा देवी बावरी व पुखराज गर्ग के साथ जयपुर सरकारी आवास पर आगामी रणनीति पर चर्चा की।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।