नागौर/जयपुर।

राजस्थान में बीते दिनों ही विधानसभा चुनाव संपन्न हुए हैं। आज प्रदेश में मंत्रियों को विभागों का बंटवारा हुआ है, मंत्रियों ने ठीक से काम सम्भाला भी नहीं है कि उससे पहले पार्टियों ने लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है।

राजस्थान में राजनीति का गढ़ माने जाने वाले नागौर जिले में सियासी गतिविधियों ने जोर पकड़ लिया है। यहां पर दिग्गज राजनेता बन चुके हनुमान बेनीवाल ने साफ कर दिया है कि उनकी पार्टी लोकसभा की सभी 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

इसके साथ ही साल 2014 के लोकसभा चुनाव में करारी हार झेलने वाली कांग्रेस पार्टी की नेत्री ज्योति मिर्धा ने भी इशारा कर दिया है कि वह भी लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहीं हैं।

ज्योति मिर्धा ने कहा है कि अगर पार्टी उनको लोकसभा चुनाव के लिए टिकट देती है, तो निश्चित रूप से नागौर लोकसभा क्षेत्र से अगले साल अप्रेल-मई-2018 में होने वाले आम चुनाव के दौरान यहां से कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगी।

इधर, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर जिले की खींवसर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हनुमान बेनीवाल ने भी दावा किया है कि वह लगातार दूसरी बार नागौर जिले से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे।

आपको बता दें कि नागौर कि लोकसभा 2009 से 2014 के बीच ज्योति मिर्धा का संसदीय क्षेत्र था। 2014 में मिर्धा बीजेपी के उम्मीदवार सीआर चौधरी के सामने हार गई थीं। उसी दौरान हनुमान बेनीवाल डेढ़ लाख से अधिक वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहे थे।

एक जमाने में नागौर की लोकसभा सीट के अलावा वहां की सभी विधानसभा सीटों पर भी मिर्धा परिवार का वर्चस्व था, लेकिन नाथूराम मिर्धा रामनिवास मिर्धा के निधन के बाद यह क्षेत्र मिर्धा परिवार से छिटक गया।

हालांकि, सीआर चौधरी 2014 से पहले राजनीति में नहीं थे, लेकिन नागौर में हनुमान बेनीवाल लंबे समय से राजनीति कर रहे हैं। उनके पहले उनके पिता रामदेव बेनीवाल दो बार विधायक रह चुके थे। ऐसे में इस क्षेत्र में अब हनुमान बेनीवाल सबसे बड़े नेता के रूप में स्थापित हो चुके हैं।

आपको बता दें कि हनुमान बेनीवाल 2008 में बीजेपी की टिकट पर खींवसर विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने थे। 2013 में उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीता।

हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में बेनीवाल ने अपनी खुद की पार्टी आरएलपी से चुनाव लड़ा है। बेनीवाल लगातार तीसरी बार विधायक चुने गए हैं।

ऐसे माना जाता है कि साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान हनुमान बेनीवाल की वजह से ज्योति मिर्धा चुनाव हार गई थीं, लेकिन एक बार फिर वह दावेदारी कर रही हैं।

बीते दिनों विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान ज्योति मिर्धा ने हनुमान बेनीवाल पर अनर्गल टिप्पणी कर कर इलाके में सियासत का नया विवाद पैदा कर दिया था। जिस पर बेनीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।

सीआर चौधरी केंद्रीय मंत्री हैं और ज्योति मिर्धा तीसरी बार लोकसभा का चुनाव लड़ने जा रही हैं। इधर, हनुमान बेनीवाल भी लगातार दूसरी बार लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।