नागौर।

हनुमान बेनीवाल के द्वारा उठाए गए कदम के कारण उनकी जमकर सराहना हो रही है, बल्कि एक गरीब को दी गई सहायता के चलते बेनीवाल की खूब वाहवाही हो रही है।

खींवसर तहसील के जोरावपुरा गांव में हिंसक जानवर द्वारा देर रात पशुपालक महमद के बाड़े में बन्द शिकार हुई भेड़ों के बाद क्षेत्र में पैंथर के दस्तक की आहट से जहां क्षेत्र में भय का माहौल हो गया। मौके पर स्थानीय विधायक हनुमान बेनीवाल के पहुंचने से गरीब को राहत भी मिली है।

उन्होंने मृत भेड़ों को देखा और घायल हुए इन निरीह जानवरों के ईलाज के लिए पशुपालन विभाग को निर्देशित भी किया। इस दौरान मौके पर मुंडवा तहसीलदार व खींवसर के थानाधिकारी भी पहुंचे।

विधायक के पहुंचने की सूचना मिलते ही प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारी मौके पर घटना की जानकारी मिलते ही पहुंच गए, जबकि मौके पर वन विभाग की रेस्क्यू टीम नहीं पहुंची, जो विभाग की कार्यशैली और दक्षता पर सवालिया निशान खड़ा करता है।

विधायक बेनीवाल ने हिसंक जानवर द्वारा भेड़ों के शिकार से प्रभावित हुए ग्रामीण पशुपालक महमद नट को 25 हजार रुपए की नकद आर्थिक सहायता दी। साथ ही मौके पर पशुपालन विभाग के अधिकारी से मृत भेड़ों की पोस्टमाटर्म रिपोर्ट बनाकर सरकार से आर्थिक सहायता दिलवाने के लिए मुंडवा तहसीलदार को निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि घटना तो हो गई, परन्तु गरीब परिवार का दर्द हम सबको मिलकर बांटने का फर्ज होता है। विधायक मौके पर वन विभाग की रेस्क्यू टीम की अनुपस्थिति देकर बिफर गए।

उन्होंने तत्काल रेंजर, डीएफओ, एसीएफ, नागौर जिला कलेक्टर व वन मंत्री सुखराम विश्नोई से फोन पर वार्ता कर घटना की जानकारी देते हुये रेस्क्यू टीम भेजने की मांग की।

विधायक ने कहा कि कुछ दिन पूर्व ही 2 पेंथर देखने की पुष्टि हुई, जिसमें से एक पेंथर को पकड़ लिया गया, जबकी दूसरे का पता नही लग पाया। ऐसे में रेस्क्यू टीम को नागौर ही कैम्प करना चाहिए था।

क्योंकि नागौर टीम के पास संसाधनों का अभाव है। साथ ही उन्होंने कहा कि जब रविवार होते हुए भी जिला कलेक्टर लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए है तो वन विभाग के आला अधिकारी जिला मुख्यालय पर मौजूद नहीं है।

विधायक बेनीवाल ने जहां रविवार सुबह अपने आवास पर जन -सुनवाई की, वहीं शाम को खींवसर विधानसभा के अखासर गांव में नव वर्ष के अवसर पर आयोजित स्नेह मिलन कार्यक्रम में भाग लिया।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि युवाओं के जिस जोश और बुजुर्गों के आशीर्वाद की बदौलत उन्हें लगातार तीसरी बार विधानसभा में भेजा है, उसके लिए वो हमेशा खींवसर के जनता के आभारी रहेंगे।

इस अवसर पर उन्होंने तान्तवास से करणु तक जर्जर सड़क को सही करवाने व अखासर से भोमासर फांफला नाडा तक सड़क की स्वीकृति करवाने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि कृषि कनेक्शनों को नियमित करने के लिए उच्च स्तर पर वार्ता जारी है। साथ ही क्षेत्र में विकास से जुड़े बिजली, सड़क व पानी के लंबित कार्यो को वो शीघ्रता से पूरा करवाएंगे।

बेनीवाल ने कुछ दिन पूर्व कुचेरा के पास रेस्कयू किये गए पेंथर से लड़ते हुए घायल हुए व्यक्ति को आगामी गणतंत्र दिवस पर प्रशासन व सरकार से सम्मानित करने की सिफारिश विधायक ने जिला कलेक्टर से की है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।