Badmer

बाड़मेर जिले के जसोल तहसील स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में चल रही रामकथा के दौरान अचानक आंधी आने और तेज बरसात के चलते पांडाल गिर गया।

वहां पर कथा सुनने आए दर्शकों पर पांडाल गिरने के बाद करंट दौड़ने से 14 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 50 से अधिक बुरी तरह से घायल हो गए हैं।

उनमें से भी एक दर्जन लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक आज दोपहर बाद मुरलीधर महाराज का राम कथा आयोजन चल रहा था।

इसी दौरान अचानक तेज आंधी आई और उसके साथ बरसात होने से आंधी ने तूफान का रूप ले लिया। लोगों के संभालने से पहले ही विशाल पांडाल धराशाई हो गया। ऐसे में बिजली लाइन चालू थी, जिससे करंट दौड़ गया।

जिसके कारण मौके पर मौजूद लोग बच कर निकल नहीं सके और इस हादसे की चपेट में आने से 18 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अतिरिक्त 60 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।

घायलों को बाड़मेर के अलावा जोधपुर अस्पताल में भी भेजा गया है।

इस दुर्घटना की जानकारी मिलने के बाद बाड़मेर जैसलमेर के सांसद और केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने रांची जाने का अपना दौरा रद्द कर दिया है।

देर शाम तक बाड़मेर पहुंच रहे हैं। घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत अनेक नेताओं ने गहरा दुख व्यक्त किया है।

बाड़मेर जिले के जसोल में चल रहे धार्मिक कार्यक्रम में अंदर से पांडाल गिरने की वजह से दिवंगत हुए लोगों की आत्मा की शांति के लिए सांसद हनुमान बेनीवाल ने की परमात्मा से प्रार्थना की है।

बेनीवाल ने कहा कि यह दुखद घड़ी है और हम सब पीड़ित परिवारों के साथ खड़े हैं। उन्होंने स्थानीय राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को दूरभाष पर घटनास्थल पर जाकर पीड़ितों की तत्काल मदद करने के संबंध में अवगत कराया है।