Ayodhya-Ram-Mandir-Matter-In-Supreme-Court
Ayodhya-Ram-Mandir-Matter-In-Supreme-Court

-शीर्ष अदालत ने बनाया तीन सदस्यों का मध्यस्थता पैनल

नई दिल्ली।

तीन दशक पुराने राम जन्म भूमि विवाद का फैसला अब पंच पटेल ही करेंगे। शीर्ष अदालत ने फैसला सुनाने से इनकार कर दिया। कोर्ट ने तीन सदस्यों के नाम बताते हुए इसका निस्तारण 8 हप्तों में करने को कहा है। चार सप्ताह में सुप्रीम कोर्ट को प्रोग्रेस रिपोर्ट देनी होगी।

कोर्ट ने आज सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा कि श्रीराम पंचू, रिटायर जज फकीर अहमद कल्लीमुला और श्री श्री रविशंकर की यह कमेटी सभी पक्षों से बातचीत कर रास्ता निकालेगी। अगले सप्ताह से इसकी सुनवाई शुरू हो जाएगी। फैजाबाद में इसका केंद्र होगा और राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार को इसके लिए तमाम इंतजामात करने होंगे।

पूरे विवाद के लिए बनाए गए इस पैनल में मशहूर मध्यस्थ माने जाने वाले श्रीराम पंचू, पूर्व जज एफए कल्लीमुला और आध्यात्मिक गुरू रविशंकर होंगे। इस मध्यस्थता की मीडिया रिपोर्टिंग भी नहीं होगी। हालांकि, मध्यस्थता को लेकर अभी तीनों पक्षों में सहमति बनने की संभावना कम ही है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें।