ashok gehlot vasundhara raje
ashok gehlot vasundhara raje

जयपुर। लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर राजस्थान में पहले चरण का मतदान सोमवार को हो रहा है। राज्य के 13 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होने जा रही है। इनमें दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों की साख दांव पर है, लेकिन जिसको लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, वह है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सियासी इज्जत।

दोनों ही मुख्यमंत्री राज्य में अपने अपने बेटों के माध्यम से अपनी राजनीतिक इज्जत बचाने में जुटे हुए हैं। अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत पहली बार चुनाव में भाग्य आजमा रहे हैं, वहीं वसुंधरा राजे के पुत्र दुष्यंत सिंह लगातार चौथी बार चुनाव लड़ रहे हैं, वह तीन बार के सांसद हैं।

बांरा—झालावाड़ सीट पर 1989 से लेकर 2004 तक लगातार सांसद रहने वाली वसुंधरा राजे अभी झालरापाटन से विधायक हैं। पहली बार 2003 में विधायक बन मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने यह सीट अपने बेटे दुष्यंत सिंह के लिए सुरक्षित कर दी थी। तभी से 2004, 2009 और 2014 में लगातार तीन बार जीतकर दुष्यंत सिंह ने अपनी मां की उम्मीदों पर खरा उतरने का काम किया है।

दूसरी तरफ जोधपुर की जिस लोकसभा सीट से 1980 में पहली बार सांसद बनकर अशोक गहलोत ने लोकसभा जाने का गौरव हासिल किया था, उस सीट पर इस बार उनके पुत्र वैभव गहलोत को संसद भेजने का प्रयास कर रहे हैं।

1980 में पहली बार सांसद बनने वाले गहलोत को यहां पर 1989 में भाजपा के जसवंत सिंह के सामने हार का मुंह देखना पड़ा, लेकिन 1991 के चुनाव में फिर से सांसद बने गहलोत तब तक लोकसभा सदस्य रहे, जब वह 1998 में राजस्थान के मुख्यमंत्री बने।

अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे बीते 21 साल से बारी बारी से राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैं दोनों ही ने पहले लोकसभा में प्रतिनिधित्व किया और बाद अपनी अपनी सीटें अपने बेटों के लिए छोड़ीं। वसुंधरा राजे ने अपने जीवन में एक भी चुनाव नहीं हारा, जबकि गहलोत एक बार हार का स्वाद भी चख चुके हैं।

दूसरी ओर वसुंधरा राजे की सियासी विरासत संभाल रहे दुष्यंत सिंह भी लगातार तीन बार अविजित सांसद बन चुके हैं, लेकिन अशोक गहलोत के बेटे पहली बार मैदान में हैं। देखना दिलचस्प होगा कि गहलोत पुत्र वैभव भी वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह की तरह जीत हासिल कर पाते हैं, या हारकर अशोक गहलोत के सपनों पर पानी फेरते हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।