जयपुर।
राजस्थान विधानसभा की आज से भले ही कार्यवाही शुरू हो गई हो, मगर इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष के द्वारा जारी किया गया तुगलकी फरमान विवाद का कारण बन गया है।

आज अध्यक्ष के साथ पत्रकारों की बातचीत के बाद भी वार्ता सफल नहीं हुई, जिसके कारण पत्रकारों ने शुक्रवार को सदन की कार्यवाही कवरेज नहीं करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि अध्यक्ष के द्वारा इस बार स्वतंत्र पत्रकारों के पास नहीं बनाए गए। साथ ही जिन अखबारों का सरकार ने एक्रीडेशन नहीं हुआ है, उनके प्रतिनिधियों के भी कवरेज पास नहीं बनाए हैं।

इतना ही नहीं, जिन पत्रकारों को कवरेज पास किया गया है, उनको भी केवल पत्रकार दीर्घा और पत्रकार कक्ष के अलावा कहीं पर प्रवेश करने से इनकार किया गया है।

इन तीन तुगलकी फरमानों के बाद सभी पत्रकार और संस्थान विधानसभाध्यक्ष के खिलाफ हो गए हैं। इसको लेकर आज पत्रकारों ने सदन में ही विधानसभाध्यक्ष कक्ष के बाहर धरना देकर विरोध जताया है।