वसुंधरा झुककर प्रणाम कर रही हैं ‘पटाने’ के लिए, मनाने के लिए”…

32
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह के सामने झुक कर नमस्कार करने को लेकर उठे सवाल का तूफान थमने का नाम नहीं ले रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ट्विटर पर उठाए गए इस सवाल को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जहां से नाराज हैं, वहीं अशोक गहलोत ने अपना ट्वीट भी डिलीट कर दिया है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इंदिरा प्रदेश में चुनावी दौरों पर हैं। ऐसे में अपनी हर जनसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस ट्वीट को महिलाओं के लिए अपमान करार देकर मुद्दा बना लिया है।

आपको बता दें कि 1 दिन पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने टि्वटर हैंडल पर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा अमित शाह को लेकर एक आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा था कि मुख्यमंत्री भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह के सामने कमर तक झुक कर प्रणाम करती है, अगर समय रहते वसुंधरा राजे राजस्थान की जनता को प्रणाम करती तो आज अमित शाह के सामने इस तरह तो मर तक झुक कर प्रणाम करने की नौबत नहीं आती।

इतना ही नहीं अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, “आज मैंने फोटो देखी वसुंधरा जी की… अमित शाह के सामने आधी कमर तक झुककर प्रणाम कर रही हैं… मोदी जी की तरह… तो मैंने कहा वसुंधरा जी इतना जो झुककर प्रणाम अगर आप आम जनता से कर लेते तो आज आपकी यह दुर्गति नहीं होती… अमित शाह जी, नरेंद्र मोदी जी और वसुंधरा जी के बीच छत्तीस का आंकड़ा रहा है। अब चुनाव आ गए हैं तो वापस झुक झुककर प्रणाम कर रही हैं। ‘पटाने’ के लिए, मनाने के लिए।”

वसुंधरा राजे ने अशोक गहलोत के ट्वीट पर कहा है कि गहलोत ने तो ऐसे शब्द बोले जिन्हें मैं दोहरा नहीं सकती। दूसरी तरफ अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट को दोहराते हुए कहा कि उम्र में बराबर होने पर भी वसुंधरा राजे अमित शाह के आगे झुकतीं हैं।