nationaldunia

जयपुर।

राजस्थान के 12वें मुख्यमंत्री के रुप में अशोक गहलोत के आज शपथ लेने के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री हरदेव जोशी और भैरों सिंह शेखावत की तरह तीन बार मुख्यमंत्री बनने वाले राजनेता हो गए हैं।

इससे पहले कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरदेव जोशी तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।
केवल मोहनलाल सुखाड़िया ही ऐसे मुख्यमंत्री रहे हैं, जो चार बार प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।

मोहनलाल सुखाड़िया पहली बार 13 नवंबर 1654 में मुख्यमंत्री बने और 13 मार्च 1967 तक लगातार 13 साल तक मुख्यमंत्री रहे।

इसके बाद चौथी बार सुुखाड़िया 26 अप्रेल 1967 से लेकर 9 जुलाई 1971 तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।

हरदेव जोशी पहली बार 11 अगस्त 1973 से 29 अप्रेल 1977 तक मुख्यमंत्री बने। उसके बाद 10 मार्च 1985 से 20 जनवरी 1988 तक दूसरी बार सीएम रहे।

4 दिसंबर 1989 से 4 मार्च 1990 तक तीसरी बार मुख्यमंत्री रहे। इसी तरह से भैरों सिंह शेखावत पहली बार 22 जून 1977 से 16 फरवरी 1980 तक मुख्यमंत्री रहे।

इसके बाद वे 4 मार्च 1990 से 15 दिसंबर 1992 तक और फिर 4 दिसंबर 1993 से 29 नवंबर 1998 तक मुख्यमंत्री रहे हैं।

वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहली बार एक दिसंबर 1998 से 8 दिसंबर 2003 तक मुख्यमंत्री रहे।

दूसरी बार अशोक गहलोत 12 दिसंबर 2008 से 13 दिसंबर 2013 तक सीएम रहे।

अब अशोक गहलोत आज 17 दिसंबर 2018 को तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने हैं।

दिनों के हिसाब से मोहनलाल सुखाड़िया चार बार के अपने कार्यकाल के दौरान सर्वाधिक 6038 दिन तक राजस्थान के सीएम रहे।

उनके बाद भैरोंसिंह शेखावत कुल 3808 दिन तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। शेखावत बाद में उपराष्ट्रपति बनें।

तीसरे नंबर पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रहीं। जिन्होंने अपने दो बार के कार्यकाल में कुल 3662 दिन तक मुख्यमंत्री काम संभाला।

चौथे नंबर तक नवनिर्वाचित सीएम अशोक गहलाते हैं, जो आज दिन तक कुल 3656 दिन तक प्रदेश के सीएम रह चुके हैं।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।