rajendra rathore bjp rajasthan
rajendra rathore bjp rajasthan (file photo)

जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड ने चूरू मेें प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस सरकार आई है तब से आर्थिक अघोषित आपातकाल लग चुका है।

पूरा प्रदेश आर्थिक अराजकता से जकड़ा हुआ है। राजस्थान के 6.5 लाख कर्मचारियों के बिलों को राजस्थान सरकार की ट्रेजरी ने रोकने का काम किया है।

प्रदेश के सभी पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार जिन्होंने 3 हजार करोड रूपए के काम पूरे कर अपने बिल 31 मार्च से पहले से दे दिये थे, उनको एक पैसा भी नहीं मिलने के कारण निर्माण कार्य के साथ-साथ रखरखाव का काम भी बंद पड़ा है।

राठौड ने कहा कि केन्द्र सरकार ने सरसों की कीमत प्रति क्विंटल 4200 रूपए तथा चने की 4650 रूपए प्रति क्विंटल एमएसपी तय की है। आज किसान मजबूरीवश 3800-3900 रूपए प्रति क्विंटल सरसों व 4000-4300 के बीच चने बेच रहा है।

लेकिन प्रदेश सरकार ने बारदाने का इंतजाम नही किया। यह राजस्थान के किसान के साथ अन्याय है।

राठौड ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार ने 27 लाख किसानों के लगभग 7 हजार करोड़ रूपए के ऋण माफ किये थे।

किन्तु अब प्रदेश की कांग्रेस सरकार ऋण माफी के नाम पर किसानों से छलावा कर रही है। राठौड ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि हर मोर्चे पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार विफल रही है।

राठौड ने कहा कि मुख्यमंत्री जी का बस एक ही एजेंडा रह गया है, अपने ‘‘वैभव’’ के वैभव को ऊँचा करने का। सारा प्रशासन पंगु हो गया है।

बिजली की कटौती आम बात हो गई है। 37 पैसें प्रति यूनिट के सरचार्ज के नाम से पिछले दरवाजे से बिजली की कीमतें बढ़ा दी गई है।

घरेलू बिजली बहुत मुश्किल से 15 से 16 घंटे मिल रही है और किसान की बिजली का हाल बेहाल है। सरकार की बदहाली के विरूद्व भाजपा जन जागरण अभियान चलायेगी।

राठौड ने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय मुद्दो को लेकर चुनाव में है तथा कांग्रेस राष्ट्रद्रोही मुद्दों को लेकर। भारतीय जनता पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में आतंकवाद केे विषय में जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनाने की बात कही है।

राठौड़ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के घोषणा पत्र में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को 6 हजार रूपये प्रतिवर्ष देने की बात कही है।

60 वर्ष से ज्यादा उम्र के किसानों को पेंशन देने व किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से 1 लाख से लेकर 5 लाख तक के ऋण पर जीरों प्रतिशत ब्याज की बात कही गई है।

वहीं छोटे किसान व्यापारियों को भी किसान क्रेडिट देने की बात कही है। जीएसटी के अंदर जिस व्यापारी का भी पंजीकरण हो गया उसको 10 लाख रूपये तक का बीमा कवर देने की बात कही है।

राठौड ने कहा कि राजस्थान में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। चूरू जिलें में भी गोली कांड हो रहे है और पीने के पानी और बिजली दोनों के प्रति सरकार उदासीन हो रही है।

सामान्य काम भी नही हो रहे। वोट की चोट से प्रदेश की जनता कांग्रेस को उचित जवाब देगी।