Jaipur

आज के 10 दिन बाद देश में स्वतंत्रता दिवस के लिए जश्न की तैयारियां जोरों पर है, किंतु उससे पहले आज राज्यसभा में नरेंद्र मोदी की खास सिपहसालार और देश के गृहमंत्री अमित शाह ने देशवासियों को जश्न मनाने का मौका दे दिया।

गृह मंत्री अमित शाह ने न केवल जम्मू कश्मीर में धारा 370 के अनुच्छेद 35A हटाने की घोषणा की, बल्कि उसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश और जम्मू कश्मीर को दिल्ली की तरह अलग से राज्य बनाने का भी ऐलान कर दिया।

भारी विरोध और हंगामें के बीच राज्यसभा में इस बात की घोषणा करते हुए अमित शाह ने कहा कि राष्ट्रपति के हस्ताक्षर होने के साथ ही यह राजपत्र मान्य मान लिया जाएगा।

बीते करीब 1 सप्ताह से जम्मू कश्मीर में जहां भारी तनाव का माहौल है, वहीं पूरे देश के साथ दुनिया भर की निगाहें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के ऐलान के ऊपर टिकी हुई थी, जैसे ही गृह मंत्री शाह ने राज्यसभा में इसकी घोषणा की तो पूरा देश जैसे जश्न के माहौल में डूब गया।

सोशल मीडिया पर जम्मू कश्मीर, लद्दाख, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, 56 इंच का सीना और धारा 370 ट्रेंड कर रहे हैं।

अमित शाह के ऐलान के साथ ही बीते कई दिनों से चल रही विभिन्न अवधारणाओं पर भी विराम लग गया और जम्मू कश्मीर को 65 साल बाद पूर्ण आजादी मिल गई।

इस व्यवस्था के बाद लद्दाख में जहां केंद्र सरकार का शासन होगा, तो जम्मू और कश्मीर में दिल्ली राज्य की तरह चुनाव होंगे, किंतु वहां पर दिल्ली की तरह उपराज्यपाल सर्वोपरि होंगे।