…और फिर जिंदा हो गई नदी

37
nationaldunia
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

जयपुर।

आतिशी नजारों के बीच मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जयपुर की लाइफ लाईन कही जाने वाली द्रव्यवती नदी का पुनरूद्धार कर जयपुरवासियों को समर्पित किया।

इस अवसर पर राजे ने सभी को बधाई दी और कहा कि आज बहुत बड़ा काम हुआ है। 2014 में देखा गया उनका सपना आज पूरा हो गया है।

उन्होंने कहा कि मुझे जब यहां गंदे नाले से गुजरना पड़ता था, तभी मैंने इसे फिर से जयपुर की जीवनदायिनी द्रव्यवती नदी के रूप में पुनर्जीवित करने का संकल्प लिया था।

द्रव्यवती आज वापस आ गई है और यह हमारे लिए सबसे बड़ी खुशी की बात है। उन्होंने इस संकल्प को पूरा करने के लिए टाटा प्रोजेक्ट्स लि. एवं जयपुर विकास प्राधिकरण का शुक्रिया अदा किया।

मुख्यमंत्री ने लोकार्पण कार्यक्रम में मौजूद जयपुरवासियों से कहा कि अब सभी अपने बच्चों, पोते-पोतियों, नातिन के साथ यहां आएं एवं इस रिवर फ्रंट का आनंद लें।

उन्होंने कहा कि अब जयपुर के लोगों की जिम्मेदारी है कि द्रव्यवती नदी के इस पुनर्जीवित रूप को बरकरार रखते हुए इसे साफ-सुथरा और सुंदर रखेंगे, ताकि बाहर से लोग आकर इसकी खूबसूरती को निहार सकें।

उन्होंने कहा कि 47 किलोमीटर लम्बी इस द्रव्यवती परियोजना में वॉकिंग ट्रेक, साइकिल ट्रेक, सुंदर बगीचे, लैण्डस्केप पार्क, बॉटेनिकल गार्डन होंगे। यहां जयपुरवासी जोगिंग, साइक्लिंग, योगा, संगीत, ड्रॉइंग-पेन्टिंग जैसी सुविधाओं का आनंद ले सकेंगे।

राजे ने कहा कि द्रव्यवती नदी परियोजना वास्तव में जयपुर की जीवनदायिनी साबित होगी। उन्होंने जयपुर विकास प्राधिकरण, जयपुर नगर निगम एवं टाटा प्रोजेक्ट्स लि. से जुड़े अधिकारियों को बधाई।

राजे ने कहा कि साफ-सुथरा जयपुर बनाने में जी-जान से जुट जाएं। इससे पहले मुख्मयंत्री ने रिवर फ्रंट से द्रव्यवती नदी के सुंदर नजारे देखे।

उन्होंने परियोजना स्थल पर बने एक्सपीरियंस सेन्टर में जाकर पूरी परियोजना के जुड़े मॉडल देखे और आॅडियो-विजुअल फिल्म के माध्यम से द्रव्यवती नदी की कहानी सुनी।

जयपुर विकास प्राधिकरण के आयुक्त वैभव गालरिया एवं टाटा प्रोजेक्ट्स लि. के एमडी विनायक देशपांडे ने उन्हें पूरे प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताया।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने समारोह स्थल पर लगी प्रदर्शनियों, स्कूली बच्चों की ओर से प्रस्तुत नुक्कड़ नाटक, नृत्य एवं गीत प्रस्तुतियों तथा बैंड वादन का आनंद लिया। उन्होंने रिवर फ्रंट पर पौधारोपण भी किया तथा हवा में गुब्बारे उड़ाए।