Pak pm imran kham kamar bajwa

नई दिल्ली।

स्वीडन की एक न्यूज़ पत्रिका के अनुसार…ऐसे ही नही आया अभिनंदन…27 फरवरी की रात पूरा पाकिस्तान ब्लैकआऊट रखकर अंधेरे मे रहा…. पूरी रात दहशत मे गुजरी पाकिस्तानियो की…

F16 के जमींदोज होते ही अमेरिका को पता चल गया था…. भारत पर इसके इस्तेमाल से अमरीका गुस्से में था…. पर उस समय ये पाक को भारत के गुस्से से बचाना भी जरुरी था…

क्योकिं भारत का एक पायलट पाक कब्जे में जाते ही भारत बड़ी और भीषण कार्यवाई के लिये ब्रम्होस मिसाइलें तैयार कर ली थी…..प्लान यही था कि पाकिस्तान एयर फोर्स को रात में ही तहस नहस कर दिया जाये…..

जिसकी भनक अमेरिका को लग गयी….. अमेरिका ने तुरन्त पाकिस्तान को चेता दिया कि कब्जे में रखे भारत के पायलट को कोई नुक्सान नहीं होना चाहिये…..

नहीं तो भारत को रोकना नामुमकिन होगा….पाक को अमेरिका ने चेताया कि युद्घ की स्थिति में वो F-16 के इंजन को लाक कर देगा।

भारत की सम्भावित कठोर कार्रवाई से घबराए खुद पाक सेना प्रमुख कमर जनरल बाजवा ने UAE से बात की… उधर अमेरिका ने अरब और रूस से बात की…..

अरब ने भारत से एक रात रुकने की सलाह दी…..अरब ने करीब दोपहर में ही pmo नयी दिल्ली से सम्पर्क साध लिया था…. और पाक को फटकार लगायी…..

रूस, अमेरिका ने पाक को समझा दिया की कल सुबह तक हर हाल में इंडियन पायलट को छोड़ने की घोषणा करे, वो भी बिना शर्त।

यही नही पाक ने चीन से भारत के आसमां पर निगरानी कर रहे उपग्रह से डायरेक्ट लिंक मांगा…. जिसे चीन ने मना कर दिया।

अन्त में पाक ने तुर्की से मदद मांगी…. उसने तुरन्त मना कर दिया और पायलट को छोडने को कहा।

इधर, भारत क्या कर सकता है इसकी जानकारी के लिये पूरे विश्व के बड़े देशों के उपग्रह भारत पर नजर रख रहे थे।

24 फरवरी से लेकर 28 फरवरी तक रात में पाकिस्तान के बड़े फौजी अधिकारी घर में बने बंकरों में रहते…. पाक बिलकुल असहाय था, मोदी ने लाचार बना दिया था।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।