alwar gang rap kand
alwar gang rap kand

—अलवर के थानागाजी में पति के सामने सामुहिक दुष्कर्म का मामला
जयपुर।
अलवर जिले के थानागाजी इलाके में विवाहिता के साथ दुष्कर्म के आरोपियों को पुलिस अभी तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

ऐसे में इस घटना से नाराज लोगों ने सोशल मीडिया पर आरोपियों के फोटो शेयर कर उन्हें पकड़वाने की मुहिम शुरू की है।

लोग अलवर पुलिस की कार्यप्रणाली के खिलाफ भी गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। लोगों को पुलिस पर से विश्वास खत्म हो गया है।

गौरतलब है कि थानागाजी में पति के सामने ही उसकी पत्नी से पांच दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसका वीडियो बनाकर इसे वायरल कर दिया था। पुलिस इस मामले को छुपाती रही थी।

घटना की जानकारी मीडिया में आने के बाद पुलिस-प्रशासन पर दबाव नजर आ रहा है। आज विधायक कांति मीना के साथ ही एएसपी चिरंजीलाल मीना पीड़ितों से मिलने पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

इस संबंध में जल्द कार्रवाई का आश्वासन भी दिया। घटना के पांच दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर ग्रामीणों में रोष है।

आरोपियों ने घटना का वीडियो वायरल किया था। इनमें से दो आरोपियों की पहचान कर ली गई है।

गांव कराणा निवासी छोटेलाल गुर्जर, बानसूर निवासी अशोक गुर्जर हैं। बाकी आरोपियों की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं।

राज्य को शर्मसार करने वाली यह घटना 26 अप्रैल को दोपहर तीन बजे की है। उस दौरान वह अपने पति के साथ बाइक से लालवाड़ी गांव से तालवृक्ष जा रही थी।

इस दौरान थानागाजी-अलवर बाई पास रोड पर दुहार चौगान वाले रास्ते में पांच युवकों ने उनकी बाइक के आगे दो बाइक लगा दी और रोक लिया।

उन आरोपियों ने पति के साथ मारपीट की। इसके बाद जबरदस्ती ले जाकर पति के सामने युवती के साथ पांचों आरोपियों ने बलात्कार किया और वीडियो भी बना लिया।

आरोपियों की धमकी से सदमे में थे दंपती-आरोपियों ने पीड़ित दंपती को इस घटना के बारे में किसी को बताने पर वीडियो वायरल करने के साथ ही पीड़िता के पति को जान से मारने की धमकी दी थी।

पीड़िता ने इसी वजह से पांच-छह दिन तक पुलिस में मामला दर्ज नहीं करवाया। इसके बाद पीड़िता ने दो मई को मामला दर्ज करवाया।

सोशल मीडिया पर शेयर किए फोटो- इस घटना के बाद पूरे राज्य में दरिंदों के खिलाफ गुस्सा देखने को मिल रहा है।

पुलिस की संदिग्ध भूमिका को लेकर भी लोग नाराज हैं। पुलिस ने इस मामले को चार दिन तक दबाए रखा।

अब पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश देने का दावा कर रही है, हालांकि अभी तक आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

ऐसे में लोग आरोपियों के फोटो सोशल मीडिया पर शेयर कर इनके बारे में पुलिस को सूचना देने की मांग कर रहे हैं।