Jaipur

भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का गठबंधन टूट गया है।

चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार उतारने को लेकर गठबंधन हुआ था, लेकिन परिणाम के दूसरे दिन से दोनों के बीच तल्खी तेज होने के कारण गठबंधन टूट गया।

अधिक खबरों और वीडियो के लिये आप हमारे यू ट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस बात का ऐलान करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी का सभी जगह वजूद है, इसलिए उसको किसी भी अन्य पार्टी के साथ गठबंधन करने की कोई जरूरत नहीं है।

इसको लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि वह अभी भी गठबंधन करने को लेकर तैयार हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने इसमें कोई इंटरेस्ट नहीं जताया है।

गौरतलब है कि उपचुनाव के परिणाम के दूसरे हनुमान बेनीवाल ने भारतीय जनता पार्टी के दो नेताओं पर निशाना साधा था, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व मंत्री यूनुस खान शामिल है।

हनुमान बेनीवाल ने दोनों नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उपचुनाव के दौरान दोनों नेताओं ने कांग्रेस को समर्थन देकर बीजेपी और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयुक्त उम्मीदवार नारायण का साथ नहीं दिया और उन्हें हराने का पूरा प्रयास किया।

इस बात को लेकर सतीश पूनिया ने कहा कि हमने हनुमान बेनीवाल को पहले भी शिकायत दी थी कि वह अपनी जुबान को नियंत्रित में रखें और आगे से हमारी पार्टी के किसी भी नेता की बयानबाजी नहीं करें।

संभावनाएं जताई जा रही है कि कारण ही दोनों दलों के बीच गठबंधन खत्म हो गया है। जब भी हनुमान बेनीवाल गठबंधन जारी रखने की बात कही है।

हालांकि उपचुनाव के दौरान गठबंधन होते वक्त हनुमान बेनीवाल ने कहा कि निकाय चुनाव में रालोपा अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी और बीजेपी को समर्थन देंगे।