36 C
Jaipur
सोमवार, सितम्बर 21, 2020

अस्वस्थ अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां भाजपा को निरन्तर और अभेद्य किला बनाने में जुटे हैं

- Advertisement -
- Advertisement -

-आत्मनिर्भर भारत अभियान आर्थिक पैकेज की क्रियान्विति के लिए कार्यकर्ता जन-जन तक पहुंचाएं योजनाओं की जानकारी: डाॅ. सतीश पूनियां
-संगठन को हमेशा अजेय और अभेद्य बनाने के लिए निरंतर काम करने की आवश्यकता है: डाॅ. पूनियां
-राजस्थान में भले ही हम विपक्ष में हैं, लेकिन अपार जनसमर्थन हमारे पक्ष में खड़ा है: डाॅ. पूनियां
-डाॅ. सतीश पूनियां ने झुन्झुनूं और बांसवाड़ा के पदाधिकारियों की वर्चुअल बैठक ली
जयपुर।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां भले ही कोरोना वायरस से पॉजिटिव होने के कारण होम क्वारन्टीन हों, किन्तु इसके बावजूद वो संगठन को निरन्तर और अभेद्य बनाने में जुटे हैं। इसी क्रम में डॉ. पूनियां ने झुन्झुनूं एवं बांसवाड़ा के जिला पदाधिकारियों, मण्डल अध्यक्षों एवं वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की वर्चुअल बैठक ली।

इन बैठकों में प्रदेश उपाध्यक्ष हेमराज मीणा, सांसद नरेन्द्र खींचड़ एवं अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

डाॅ. पूनियां ने झुंझुनू और बांसवाड़ा की जिला कार्य योजना बैठकों को संबोधित किया, जिसमें जिलों की कार्य योजना की समीक्षा और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा हुई।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का संगठन एक विशेषता लिए हुए है, जहां विचार के नाते राष्ट्रवाद सर्वोपरि है, वहीं हमारा संगठन भी विशेषता लिए हुए हम व्यक्ति के लिए नहीं विचार के लिए काम करते हैं और संगठन एक विशेष कार्य पद्धति के कारण चलता है।

इसलिए संगठन की संरचना निरंतर बैठकें, प्रवास कार्यक्रम यह सब इसके अंग हैं, लेकिन कार्यकर्ता किसी भी जीवंत संगठन की रीड हैं, इसलिए कार्यकर्ता ही पार्टी का प्रतिबिंब हैं।

उन्होंने कहा कि संगठन के काम और विचार को विस्तार से कार्यकर्ता ही अपनी भूमिका में प्रकट करता है।

ये दोनों जिले ऐसे हैं, जहां कभी संगठन को राजनीतिक तौर पर यह नहीं माना जाता था। यहां भारतीय जनता पार्टी का वर्चस्व होगा, लेकिन हमारे पुराने कार्यकर्ताओं ने अथक परिश्रम से और नए कार्यकर्ताओं ने जोश से पार्टी की गतिविधियों को ऊंचाइयां दी हैं।


डाॅ. पूनियां ने कहा कि एक तरफ राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार है, उसकी जनविरोधी नीतियों के खिलाफ जनता को जागृत करते हुए एक व्यापक आंदोलन खड़ा करना है और जन समस्याओं के समाधान के लिए सरकार को मजबूर करना है।

उन्होंने कहा कि पानी, बिजली, स्कूल, सड़क, राशन, कोरोना प्रबंधन में भ्रष्टाचार, किसान कर्जामाफी, टिड्डी हमला अनेकों ऐसे मुद्दे हैं, जिनमें सरकार की उदासीनता स्पष्ट दिख रही है।

विगत दिनों हमने हल्ला बोल के जरिए कोरोना की मर्यादा के भीतर एक सफल आंदोलन इन मुद्दों पर खड़ा किया है।

मुझे बताते हुए खुशी है कि सोशल मीडिया पर हमारे अभियान हैशटैग ‘‘कब होगा न्याय’’ की पोटेंशियल रीच 5 करोड़ से अधिक रही, इसलिए अपने-अपने जिलों में स्थानीय मुद्दों को जोड़ते हुए मीडिया, सोशल मीडिया और जमीनी स्तर पर भी आंदोलन की पृष्ठभूमि तैयार करनी है, संगठन को बूथ आधारित बनाना है और बूथ केंद्रित गतिविधियां निरंतर चलें इसकी योजना बनानी है।


उन्होंने कहा कि दूसरी ओर केंद्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में केन्द्र सरकार अच्छा काम कर रही है, बुनियादी विकास से लेकर वैचारिक मुद्दों का समाधान मोदी के नेतृत्व में हुआ है।

कोरोना की भयावह महामारी के दौरान मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के आत्मनिर्भर भारत अभियान आर्थिक पैकेज की क्रियान्विति के लिए हमें जमीनी स्तर पर काम करने की आवश्यकता है।

जो लाभान्वित हुए हैं और जो जरूरतमंद हैं, उनसे संपर्क करना है और इस पैकेज का लाभ हर जरूरतमंद को मिले, इसके लिए हमें केन्द्र सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाना है।


उन्होंने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति ने अंग्रेजों की मैकाले की शिक्षा पद्धति को पहली बार चुनौतीपूर्ण तरीके से बदलाव करते हुए शिक्षा को देश की नीतियों के अनुकूल व्यवहारिक बनाने की अभिनव पहल हुई है।

इसलिए शिक्षा नीति की विशेषताओं को पार्टी के कार्यकर्ताओं को निश्चित रूप से जनता के बीच में मुखरता से पहुंचाना है।

उन्होंने कहा कि, सत्ता हो या नहीं हो संगठन को हमेशा अजेय और अभेद्य
बनाने के लिए निरंतर काम करने की आवश्यकता है।

राजस्थान में भले ही हम विपक्ष में हैं, लेकिन अपार जनसमर्थन हमारे पक्ष में खड़ा है, इसलिए जनहित के मुद्दों पर बूथ स्तर तक जन-जागरण कर संगठन को मजबूती से खड़ा करना हमारा कर्तव्य है।

- Advertisement -
अस्वस्थ अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां भाजपा को निरन्तर और अभेद्य किला बनाने में जुटे हैं 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

बुरी पटकथा पर काम कर आगे नहीं बढ़ा जा सकता : सचिन खेडेकर

मुंबई, 21 सितंबर (आईएएनएस)। अभिनेता सचिन खेडेकर का मानना है कि अभिनेता के लिए अपने अभिनय कौशल का बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए एक...
- Advertisement -

अनुभव सिन्हा ने अनुराग कश्यप के समर्थन में आईं महिलाओं को सराहा

मुंबई, 21 सितंबर (आईएएनएस)। फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप पर अभिनेत्री पायल घोष द्वारा लगाए गए यौन शोषण के आरोप के बाद कई महिलाएं कश्यप...

बिहार में वकील की गोली मारकर हत्या

बक्सर, 21 सितंबर (आईएएनएस)। बिहार के बक्सर जिला के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में सोमवार को दिनदहाड़े न्यायालय जा रहे एक वकील की अज्ञात अपराधियों...

कोरोना महामारी के बीच कर्नाटक विधानमंडल का मानसून सत्र शुरू

बेंगलुरु, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। कर्नाटक विधानमंडल का आठ दिवसीय मानसून सत्र सोमवार को जबरदस्त स्वास्थ्य सुरक्षा उपायों जैसे मास्क, ग्लव्स, फेस शील्ड और सिर्फ...

Related news

केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार खोले जाएंगे स्कूल- बेसिक शिक्षा मंत्री

इटावा, 18 सितंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ़ सतीश द्विवेदी ने कोरोनावायरस के कारण बंद चल रहे स्कूल खोले जाने की...

अलवर में 5-6 जनों ने बलात्कार किया, फिर मामी के साथ भांजे को शारिरीक सम्बन्ध बनवा वीडियो वायरल किया

अलवर। लोकसभा चुनाव के दरमियान अलवर में थानागाजी क्षेत्र में एक विवाहित लड़की के साथ गैंगरेप करने और उसका वीडियो वायरल करने...

भारत में 18 से 24 वर्ष की 37% महिलाएं रखती हैं लंबे समय तक सैक्स सम्बंध

-भारत में 19% महिलाओं को स्मार्टफोन पर रहती हैं पार्टनर की तलाश, देश की 62% महिलाएं कर रहीं ये काम।

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...
- Advertisement -