34 C
Jaipur
सोमवार, जुलाई 6, 2020

जेएनयू प्रशासन का दावा, हालात सामान्य, छात्र बोले-वीसी का बहिष्कार जारी

- Advertisement -
- Advertisement -

[ad_1]

नई दिल्ली, 14 जनवरी (आईएएनएस)। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) प्रशासन ने दावा किया है कि अब विश्वविद्यालय में पूरी तरह से शांति स्थापित की जा चुकी है। इसके साथ ही प्रशासन का दावा है कि 14 जनवरी से विश्वविद्यालय के सभी शैक्षणिक व प्रशासनिक केंद्रों में सामान्य कामकाज शुरू हो गया है। हालांकि प्रशासन के इस दावे के ठीक विपरीत छात्रों ने जेएनयू में एक जनरल बॉडी मीटिंग बुलाई।
छात्रों की जनरल बॉडी मीटिंग में एक बार फिर जेएनयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार के बहिष्कार का प्रस्ताव पास किया है।

जेएनयू के रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार का कहना है कि मंगलवार 14 जनवरी से विश्वविद्यालय के शैक्षणिक व प्रशासनिक खंडों में सामान्य कामकाज शुरू हो चुका है। रजिस्ट्रार का यह भी दावा है कि शीतकालीन सत्र के लिए छात्रों के पंजीकरण की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके साथ ही रजिस्ट्रार का कहना है कि जो छात्र हॉस्टल छोड़ कर जा चुके थे, वह भी अब विश्वविद्यालय वापस लौट आए हैं।

रजिस्ट्रार के मुताबिक, इंटरनेशनल एकेडमिक डेलिगेशन भी शोध कार्य के लिए विश्वविद्यालय परिसर पहुंचा है।

जेएनयू प्रशासन जहां विश्वविद्यालय में पूरी तरह शांति व कामकाज सामान्य होने का दावा कर रहा है, वहीं जेएनयू के सेंटर फॉर इकोनॉमिक स्टडीज एंड प्लानिंग और स्कूल आफ सोशल साइंस के छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में ही जनरल बॉडी मीटिंग की है। इस दौरान 4 प्रस्ताव पास किए गए। इनमें सबसे अहम प्रस्ताव विश्वविद्यालय कुलपति का बहिष्कार जारी रखना है। इसके अलावा एक अन्य प्रस्ताव के तहत 5 जनवरी को जेएनयू में हुई हिंसा के लिए छात्रों ने कुलपति को जिम्मेदार ठहराया है।

जनरल बॉडी मीटिंग में यह भी तय किया गया कि छात्रसंघ आगे की लड़ाई के लिए कोई कानूनी रास्ता इख्तियार करें। छात्रों का मानना है की पढ़ाई अनिश्चितकालीन अवधि के लिए निलंबित नहीं की जा सकती। इसलिए छात्र बढ़ी हुई फीस वह हॉस्टल चार्जेस में वृद्धि का मुद्दा कानूनी तौर पर हल करना चाहते हैं। छात्रों का कहना है की कुलपति के खिलाफ भी कानूनी विकल्प तलाशने चाहिए। छात्रों ने इस मीटिंग में यह भी तय किया कि मानसून सत्र की परीक्षाएं इसी माह जनवरी तक करा ली जाए।

–आईएएनएस

[ad_2]

- Advertisement -
जेएनयू प्रशासन का दावा, हालात सामान्य, छात्र बोले-वीसी का बहिष्कार जारी 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

कर्नाटक में कोरोना के 1,925 नए मामले, कुल आंकड़ा 23 हजार के पार

बेंगलुरु, 6 जुलाई (आईएएनएस)। कर्नाटक में कोरोना वायरस के फैलने की रफ्तार का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि रविवार को एक...
- Advertisement -

चीन का विदेशी व्यापार कैसे मुश्किलों को दूर करेगा?

बीजिंग, 5 जुलाई (आईएएनएस)। वर्ष 2020 की पहली छमाही में महामारी के कुप्रभाव से चीनी उद्यमों के सामने बड़ी मुश्किलें पेश आई। यह न...

चीन में 1.9 करोड़ से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित

बीजिंग, 5 जुलाई (आईएएनएस)। चीनी मौसम ब्यूरो के आंकड़े के मुताबिक पिछले तीन सालों की तुलना में इस साल के जून महीने में चीन...

जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 183 नए मामले, फिर 5 मौतें

जम्मू, 6 जुलाई (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर में रविवार को कोरोना संक्रमण के 183 नए मामले सामने आए, जिसके साथ इस केंद्र शासित प्रदेश...

Related news

3 माह से वेतन नहीं, सैंकड़ों कर्मचारियों की कोरोनाकाल में भूखे मरने की नौबत आई

-वेतन नहीं मिला तो कर्मचारी पहुंचे न्यायालय की शरणजयपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान भी काम कर रहे...

गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारी, आधा दर्जन मंत्रियों को हटाया जाएगा, ये हो सकते हैं नए मंत्री

जयपुर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 2 दिन पहले ही ब्यूरोक्रेसी में बहुत बड़ी सर्जरी करते हुए करीब...

थानाधिकारी सुसाइड मामले में आरोपित की गईं राजस्थान के एक विधायक को मुख्यमंत्री से भी बड़ी सुरक्षा प्रदान की गई है

जयपुर पिछले दिनों चूरू में सादुलपुर थाना अधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई के सुसाइड मामले में विपक्षियों द्वारा जिस विधायक...

कोरोनाकाल में जनता से कोसों दूर कांग्रेस, सारा श्रेय ले उड़े भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां

जयपुर। जब 18 मार्च को राजस्थान में सरकारी लॉक डाउन शुरू हुआ, तब कांग्रेस संभवत: अपने घरों में घुसी होगी और निकली तब है, जब...
- Advertisement -