love jehaad
love jehaad (file photo)

Jaipur crime news
लव जेहाद का दिल ​दहला देने वाला मामला सामने आया है। राजस्थान के सवाई माधोपुर कोतवाली थाना पुलिस ने यहां पर रेवले स्टेशन के पास बीते रविवार को सूखे नाले से एक युवती की लाश बरामद की थी, जिसके मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।

पुलिस ने बताया है कि यहां पर लाश मिली है, उस मामले में देवली पुलिस ने हत्या के आरोप में​ पिता और पुत्रों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि पिता ने हिंदू युवक बनकर मृतक लड़की से फेसबुक पर प्यार का नाटक किया और अपने बेटों समेत उसके साथ गैंगरेप करने के बाद गला दबाकर हत्या कर लाश को सूख नाले में फेंक दिया।

एएसआई राजकुमार मीणा ने बताया कि मृतक लड़की अजमेर के ब्यावर तहसील में नंद्री मेंद्रातान निवासी नर्सिंग की छात्रा, जिसका नाम चंद्रकांता पून्नु थी, वह अजमेर हॉस्टल में रहती थी। वह यहां रहकर नर्सिंग की पढ़ाई कर रही थी।

छात्रा के गायब होने के बाद हॉस्टल संचालक ने ब्लॉक थाने में बीते दिनों एक गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। बताया गया था कि छात्रा 2 जनवरी को ही नाश्ते के बाद कॉलेज के लिए निकली थी, लेकिन उसके बाद वापस ही नहीं आई।

इसके बाद पुलिस ने खोजबीन शुरु की तो सवाई माधोपुर के कोतवाली थाना पुलिस को सूखे नाले में उसकी लाश मिली। शुरुआती जांच में सामने आया कि छात्रा की गला घोंटकर हत्या की गई थी।

​इसकी सूचना मिलने पर मृतक छात्रा चंद्रकांता के परिजन कोतवाली थाना पहुंचे। उन्होंने पत्रकारों को जानकारी दी कि छात्रा चंद्रकांता पून्नु को देवली का एक युवक बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया था, जिसके बाद उसकी हत्या कर दी गई।

देवली थाना पुलिस को तब बड़ी सफलता मिली, जब इस मामले में अब्दुल हक अब्बासी, जो कि 54 साल का है, को पकड़ा गया। अब्बासी ने कबूल किया कि उसने लव जिहाद के इरादे से चंद्रकांता को फेसबुक के जरिए हिंदू लड़के की आईडी बनाकर फंसाया था।

इससे भी ज्यादा चौंकाने वाला खुलासा करते हुए दरिंदे अब्दुल हक अब्बासी ने बताया कि उसने लड़की से सवाई माधोपुर निवासी बताया था। फेसबु पर उसकी दोस्ती होने के बाद उससे चैटिंग करता था। इसी दौरान वह जाल में फंस गई।

बाद में उसने अपने मोबाइल नंबर भी मृतका चंद्रकांता को दे दिया। इसके बाद कई दिनों तक उसकी लड़की से बातें होती थीं। उसने लड़की को 2 जनवरी को मिलने के लिए सवाई माधोपुर बुलाया।

उसने बताया कि लड़की की हत्या करने से पहले उसने और उसके दो बेटों ने पहले चंद्रकांता के साथ सामुहिक बलात्कार किया। इसके बाद उसको गला दबाकर मार दिया और लाश को सूखे नाले में फेंक दिया।