nationaldunia

जयपुर।

राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर जनता पार्टी, कांग्रेस, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी समेत सभी राजनीतिक दल चुनावी गणित मिटाने में जुटे हुए हैं।

चुनाव के खर्च को लेकर निर्वाचन विभाग ने सभी जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। इस बीच मजेदार तथ्य सामने आया है कि बीते 60 वर्ष के दौरान, जबकि राजस्थान में विधानसभा चुनाव शुरू हुए थे, तब से लेकर अब तक चुनावी खर्च बढ़कर 71 गुना हो गया है।

राजस्थान में 1957 में हुए पहले विधानसभा चुनाव के दौरान जहां 1 मतदाता पर 50 पैसे के हिसाब से चुनावी खर्च करने के लिए निर्वाचन विभाग ने अनुमति दी थी, वहीं आज की तारीख में प्रति मतदाता 35.50 रुपए खर्च हो रहे हैं।

राजस्थान में 200 विधानसभाओं पर मतदान हो रहा है। निर्वाचन विभाग ने प्रत्येक उम्मीदवार को साढे 28 लाख रुपए मतदान खर्च करने की अनुमति दी है, जबकि पिछले चुनाव में यह सीमा 15 लाख रुपए थी।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।