जयपुर।

राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार बन चुकी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उप मुख्यमंत्री के तौर पर पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट को कांटों का ताज पहनाया गया है। इस बीच कांग्रेस के द्वारा चुनाव से पहले किया गया वादा जनता बार-बार याद दिला रही है।

दरअसल कांग्रेस पार्टी ने चुनाव प्रचार के दौरान प्रदेश के सभी किसानों का संपूर्ण कर्जा माफ करने का वादा किया था। कहा था कि सरकार बनने के 10 दिन के भीतर प्रत्येक किसान का संपूर्ण कर्जा माफ कर दिया जाएगा।

आपको बता दें कि राजस्थान में आज की स्थिति में 59 लाख किसान विभिन्न बैंकों और सोसाइटी के कर्जदार हैं। इन किसानों का कर्जा 99 हज़ार करोड रुपए से भी ऊपर है।

गौरतलब है कि इन्हें वर्तमान सरकार के द्वारा 30 लाख किसानो का साढे 8 हजार करोड रूपया माफ किया गया था। सरकार के मुताबिक 5000 करोड में राज्य सरकार को लोन लेकर किसानों का कर्जा माफ करने की जरूरत पड़ी। बाकी रकम के लिए सरकार ने बैंक गारंटी और एनसीडीसी से लोन लिया गया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी अशोक गहलोत और सचिन पायलट ने प्रदेश में सरकार बनने के बाद किसानों का संपूर्ण कर्जा माफ करने का वादा किया था। अब सरकार बन चुकी है। ऐसे में अशोक गहलोत के सामने सबसे बड़ी चुनौती यही किसान कर्ज है।

सरकार बनने के साथ ही सहकारिता विभाग ने अपने रिकॉर्ड खंगालने शुरू कर दिए हैं। जिसके अनुसार प्रदेश के 59 लाख किसानों के ऊपर करीब 99 हजार करोड रुपए का कर्जा बताया जा रहा है।

सरकार की बैंक्स कमेटी के मुताबिक मार्च 2018 तक प्रदेश के 58 लाख 84 हज़ार किसानों का बैंक खातों से लिया हुआ कर्जा है। इसमें करीब 33 लाख किसानों ने उसे बैंक से लोन ले रखा है, अन्य किसान सहकारी बैंकों से निर्णय लेकर काम चला रहे हैं।

आज की तारीख में किसानों के ऊपर 99 लाख, 99 हज़ार, 587 लाख रुपये का कर्ज़ा है। जो माफ किये गए कर्ज़े का 10 गुणा से भी ज्यादा है।

यह है कर्ज़े की स्थिति-

-राष्ट्रीय बैंकों के खाते- 2486575

-उनसे कर्ज़ा-5408020 लाख

-पुराने निजी बैंक खाते- 52010

-लोन की राशि-19127 लाख

-नए निजी बैंक खाते-718427

-कर्ज़ा की राशि-1772140 लाख

-व्यावसायिक बैंक का कर्ज़ा-7270720 लाख

-ओवरसीज बैंक खाते-7223

-कर्ज़ा- 71433

-क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक खाते-796084

-कर्ज़ा की राशि-1450561 लाख

-सहकारी क्षेत्र के बैंक खाते-1825642

-कर्ज़ा राशि-5885961 लाख

-इन सबको मिलाकर कुल खाते-5885961

-कुल कर्ज़ा राशि-9999587 लाख रुपये।