बीजेपी के 4 नेताओं ने थामा कांग्रेस का हाथ

687
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी को एक के बाद एक, आज ही 4 बड़े झटके लगे हैं। चुनावों से पहले बाड़मेर के शिव से विधायक और राजपूत नेता मानवेंद्र सिंह के भाजपा को छोड़ने के बाद आज तीन जाट समाज के नेताओं ने कांग्रेस जॉइन कर ली। आज ही जयपुर के जिला प्रमुख मूलचंद मीणा ने पार्टी छोड़ दी है। मीणा के साथ ही विजय पूनिया, बिंदू चौधरी और नारायण राम बेड़ा ने भी कांग्रेस का दामन थाम लिया।

विजय पूनिया की पत्नी ऊषा पूनिया ने भी गत 10 अक्टूबर को ही बीजेपी को अलविदा कह दिया था। ऊषा पूनिया तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सरकार में पर्यटन मंत्री थीं। विजय पूनिया ने कांग्रेस जॉइन कर ली। उनके साथ नारायण राम बेड़ा भी कांग्रेस में शामिल हो गए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सीकर में सभा के दौरान इन नेताओं को प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने सूत की माला पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। इसके बाद प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राहुल गांधी से मुलाकात कराई।

उल्लेखनीय है कि अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे और शिव से विधायक मानवेंद्र सिंह ने 17 अक्टूबर 2018 को कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। पार्टी के संगठन महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह की मौजूदगी में मानवेंद्र सिंह ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी।

जयपुर जिला प्रमुख मूलचंद मीणा के दल बदलने जानकारी तब सामने आई, जब वो आज अचानक सीकर में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा में पहुंच गए। हालांकि, मीणा के पार्टी छोड़ने को लेकर फिलहाल बीजेपी की ओर से कोई बयान नहीं आया है।

गौरतलब है कि भाजपा में रहते हुए मूलचंद मीणा फरवरी 2015 में ही जयपुर जिला परिषद के जिला प्रमुख बने थे। जयपुर जिला प्रमुख के चुनावों में मीणा ने कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल मीणा को 5 वोट से हराया था। उस दौरान बीजेपी के उम्मीदवार मूलचंद मीणा को 28 और कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल मीणा को 23 वोट मिले थे।